गायब होने की खबरों पर बोले तेजप्रताप- 'बाबा के दर्शन करने बनारस आया हूं'
File Photo


लालू परिवार में जारी झगड़े के बीच तेजप्रताप यादव को समझाने और मनाने का प्रयास लगातार जारी है लेकिन तेजप्रताप यादव हैं कि मानने को तैयार नहीं. पिछले चार दिनों से जारी घटनाक्रम के बीच तेजप्रताप एक बार फिर अपने घर से दूर बनारस जा पहुंचे हैं. सोमवार को एक बार ऐसा लगा था कि सबकुछ ठीक होने की राह पर है लेकिन तेजप्रताप ने इस संभावना के विपरीत ऐसा कदम उठाया जिससे उनके समर्थक और सुरक्षाकर्मी भी सन्न रह गए.

दरअसल वह पटना आने की बजाय होटल से सीधे बनारस के लिए निकल गए. बनारस पहुंचे तेजप्रताप ने कहा, "मैं गायब नहीं हुआ बल्कि बाबा के दर्शन करने बनारस आया हूं."

इससे पहले ऐसा माना जा रहा था कि तेजप्रताप यादव सोमवार की शाम तक पटना पहुंचेंगे लेकिन तेजप्रताप गया से सीधे उत्तर प्रदेश के बनारस पहुंच गए. विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, परिवारवालों की तमाम कोशिशों के बावजूद भी तेजप्रताप पटना नहीं आए. पिता लालू यादव, राबड़ी देवी और परिवारवालों के मान-मनौवल के बाद भी तेजप्रताप अपने फैसले पर अडिग हैं और अपने लिए फैसले पर कोई भी समझौता करने के तैयार नहीं हैं.

तेजप्रताप को पटना स्थित अपने आवास पर पहुंचना था, जहां उनकी मां और घरवालों को उनका इंतजार था. लेकिन वह पटना ना जाकर गया से सीधे बनारस के लिए निकल गए थे. इससे पहले रविवार को पटना आने के क्रम में वह गया में ही रुक गए थे. पूर्व मंत्री तेजप्रताप बीती रात बोधगया पहुंचे थे जहां उन्हें फीवर और लूज मोशन की शिकायत थी. इसके बाद स्थानीय सीएचसी के डॉक्टर ने जांच कर दवा दी थी.

बता दें कि तेजप्रताप ने अपनी शादी के पांच महीने के बाद ही पत्‍नी ऐश्‍वर्या से तलाक लेने के लिए पटना सिविल कोर्ट में याचिका दायर की है. इस मामले की सुनवाई 29 नवंबर को होगी. तेजप्रताप की बिहार के पूर्व सीएम दारोगा प्रसाद राय की पोती और पूर्व मंत्री चंद्रिका राय के बेटी ऐश्वर्या राय से 12 मई 2018 शादी को हुई थी.


अधिक देश की खबरें

आर्म्स एक्ट में फरार बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने किया सरेंडर, बुर्का पहन कर पहुंचीं कोर्ट..

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस की आरोपी बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने आर्म्स एक्ट से जुड़े ......