BJP की राष्ट्रीय परिषद में होगा मिशन 2019 का आगाज़, मोदी-शाह देंगे जीत का मंत्र
File Photo


दिल्‍ली के रामलीला मैदान में शुक्रवार को बीजेपी की राष्ट्रीय परिषद शुरू होगी. इसमें पार्टी मिशन 2019 का न सिर्फ आगाज़ करेगी बल्कि देश भर से जुटे पार्टी के करीब 12 हजार कार्यकर्ताओं को जीत की रणनीति भी सिखायेगी. दो दिन तक चलने वाली परिषद में पीएम नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह जीत का मंत्र देंगे.

परिषद शाम चार बजे अध्यक्षीय भाषण से शुरू होगी. सूत्रों का कहना है कि सामान्य वर्ग के गरीब लोगों को शिक्षा एवं रोजगार में 10 प्रतिशत आरक्षण देने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया जाएगा. साथ ही कार्यकर्ताओं को बताया जाएगा कि वह चुनावी मैदान में उतरें और बताएं कि कैसे सरकार ने दलित, ओबीसी, एससी और मुस्लिम सभी वर्गों के लिए काम किया है. 

पार्टी महासचिव अनिल जैन के अनुसार, "रामलीला मैदान में होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक लोकसभा चुनाव से पहले सबसे बड़ी बैठक होगी." बीजेपी के इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी राष्ट्रीय परिषद होगी. इसमें मंडल स्तर के कार्यकर्ता शिरकत करेंगे. कई प्रदेशों के कार्यकर्ता दिल्ली पहुंच चुके हैं. हर लोकसभा क्षेत्र के दस प्रमुख नेता हिस्सा लेंगे.

बैठक में सभी सांसदों, विधायकों, परिषद के सदस्यों, जिला अध्यक्षों व महामंत्रियों के साथ हर क्षेत्र के विस्तारकों को भी आमंत्रित किया गया है. बीजेपी शासित राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस से हार का सामना करने के बाद होने जा रही यह परिषद अहम है.

इसमें राम मंदिर के मसले पर पार्टी अपना रुख स्पष्ट कर सकती है. किसानों के मसले पर पार्टी के कामकाज को लेकर चर्चा हो सकती है. राफेल मसले पर जवाब देने के लिए कार्यकर्ताओं को मंत्र दिए जाने की संभावना है.

सूत्रों ने बताया कि इसमें भ्रष्टाचार मुक्त सरकार पर जोर दिया जाएगा. पिछली सरकारों के घोटालों की तुलना करते हुए बीजेपी की बेदाग छवि को लेकर जनता के बीच जाने को कहा जाएगा.

अस्थायी कार्यालय
सूत्रों का कहना है कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय परिषद की बैठक में मौजूद रहेंगे. रामलीला मैदान के मंच के पिछले हिस्से में प्रधानमंत्री कार्यालय और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के लिए अस्थायी कार्यालय बनाया गया है. प्रधानमंत्री कार्यालय के लिए जो सुविधाएं जरूरी होती हैं, वह अस्थायी कार्यालय में उपलब्ध रहेंगी.


अधिक देश की खबरें