चार पीढ़ी का हिसाब दें, फिर हमसे मांगे: अमित शाह
पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह


जीनएनएस
शाहजहांपुर। लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशियों की जनसभा में जमकर गरजने वाले पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह आज बदायूं के बाद शाहजहांपुर में थे। शाहजहांपुर के रामलीला मैदान में पार्टी के प्रत्याशी अरुण कुमार सागर के पक्ष में चुनावी सभा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के निशाने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव तथा बसपा अध्यक्ष मायावती थे।
शाहजहांपुर को वीरों की धरती बताकर अमित शाह ने भारत माता की जय के नारे लगवाये। युवाओं को जिगर का टुकड़ा बताकर शहीदों को नमन किया। उन्होंने कहा कि काकोरी कांड की नींव यहां रखी गई और यह उर्वरा धरती भगवान परशुराम की जन्मभूमि है।अमित शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के पक्ष में मैं जहां-जहां भी गया वहां पर सिर्फ एक ही नारा है मोदी मोदी। इससे तो लगता है कि जनता ने तय कर लिया कि नरेंद्र मोदी को फिर पीएम बनाना है। जनता ने माना जो नारे देते थे उन्हें दिखाया गरीबी कैसे हटती है। उन्होंने कहा कि एक जमाना था गरीब बीमार हो जाता था तो इलाज नहीं कराता था। अब आयुष्मान योजना से सब संभव है। अब तो हर कोई चाहता मोदी प्रधानमंत्री बनें।उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी हर जगह पर सिर्फ पीएम मोदी की बुराई करते फिर रहे हैं। उनको चोर बता रहे हैं, लेकिन जनता हकीकत जानती है। राहुल गांधी तो हमसे हिसाब मांगते हैं। अरे आप चार पीढ़ी का हिसाब दो। यहां की जनता को हिसाब देंगे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में गठबंधन पीएम मोदी के डर से बना है। अब तो उत्तर प्रदेश में बुआ भतीजा, अजित सिंह, राहुल सब एकत्र हैं। इसके बाद भी यह लोग कुछ नहीं कर सकते हैं।यूपी को बुआ भतीजा ने गुंडों के हवाले कर दिया था। इसके बाद यहां के सीएम योगी आदित्यनाथ ने गुंडों को उल्टा लटकाया। अब पलायन कराने वाले पलायन कर गए। यहां तो गुंडे थानेदार से रहम मांग रहे। उन्होंने कहा कि चुनाव में बहनजी को डॉ. अम्बेडकर याद आते हैं। सरकार आने पर अपनी मूर्ति लगाती हैं। अम्बेडकर को पीएम मोदी ने सम्मान दिया। यहां पर दलितों की सरकार बताने वालों ने कभी दलितों के पैर धोये। मोदी ने ऐसा किया है। सामाजिक समरसता का काम किया। देश को सुरक्षित कर सबसे बड़ा काम किया। पाकिस्तान से दस साल से आतंकवाद होता था। मौनी बाबा मनमोहन सिह कुछ नहीं बोलते थे।अमित शाह ने कहा कि पुलवामा हुआ तो पीएम मोदी ने शहीदों की 13वीं के एक दिन पहले घर में घुस कर बदला लिया। एयर स्ट्राइक से आतंकियों को दफन कर दिया। उस दिन देश खुश हुआ। उस दिन दो जगह मातम था। कांग्रेस और गठबंधन के घर में मातम था। पाकिस्तान और बुआ-भतीजा के घर मातम था।
उन्होंने कहा कि हम तो मानते हैं कि देश में घुसपैठिए नहीं होने चाहिए। हम एनआरसी लेकर आये तो पूरा विपक्ष आ गया। ह्यूमन राइट की बात करने लगे। उनके चचेरे भाई लगते हैं क्या। हम सरकार आने पर घुसपैठियों को चुन चुन कर निकलेंगे। यह देश को दीमक की तरह चाट रहे है। हम तो नेशनल कॉन्फ्रेस के साथ लड़ रहे हैं। फारुख अब्दुल्ला तो देश में दो-दो प्रधानमंत्री की बात करते हैं। कश्मीर को हिंदुस्तान से कोई नही छीन सकता। राहुल शर्म करें। हम कभी अब्दुल्ला के साथ नही बैठते। वहां हमने महबूबा से राम राम कर ली। अफस्पा हटाकर सेना सुरक्षित नहीं रह सकती। उन्होंने कहा कि जेएनयू में टुकड़े करने वालो को पीएम मोदी ने जेल भेजा। राहुल उनके साथ बैठकर देशद्रोह की धारा हटाने की बात कर रहे है।
भाजपा अध्यक्ष ने कहा हर गरीब के दिल से दुआ निकली है मोदी एक बार फिर से प्रधानमंत्री बनेंगे। यह परिवर्तन सिर्फ 5 साल में आया है। आज पूरे देश के अंदर मोदी-मोदी का नारा सुनाई देता है क्योंकि देश की जनता ने तय कर लिया है कि वो फिर से मोदी जी को देश के प्रधानमंत्री के रूप में देखना चाहती है। 55 वर्षों तक राहुल गांधी और उनकी कंपनी ने शासन किया, 20 वर्षों तक बुआ-भतीजे ने राज किया लेकिन गरीबों का इन लोगों ने कुछ नहीं किया।



अधिक देश की खबरें