रोहित शेखर हत्याकांड में गिरफ्तार हुई पत्नी अपूर्वा, जानें क्या हुआ उस रात
रोहित शेखर हत्याकांड में गिरफ्तार हुई पत्नी अपूर्वा, जानें क्या हुआ उस रात


यूपी और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की रहस्यमयी मौत की गुत्थी को दिल्ली पुलिस ने सुलझा लिया है। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा को गिरफ्तार कर लिया है। आपको बतादें कि पूछताछ में पत्नी अपूर्वा ने रोहित के कमरे में जाने की बात स्वीकार की थी, लेकिन वह उसे मारने की बात से इंकार कर रही थी। उसका कहना है कि उस रात वह कुछ देर के लिए रोहित के साथ थी, लेकिन फिर अपने कमरे में आ गई थी। इसके बाद क्या हुआ? उसके कमरे में कौन गया और उसकी मौत कैसे हुई? यह उसे नहीं पता। 

छह व्यस्क और तीन बच्चे मौजूद थे 
क्राइम ब्रांच की तफ्तीश में यह साफ है कि घटना वाली रात घर में पत्नी अपूर्वा, नौकर गोलू, चालक अखिलेश, भाई सिद्दार्थ, गोलू की पत्नी व उसके तीन बच्चे और घर के पिछले हिस्से में रहने वाली नौकरानी डिम्पी मौजूद थे। मौके की सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि भाई सिद्धार्थ और डिम्पी उस रात रोहित के फ्लोर पर नहीं गए थे। वहीं, गोलू की पत्नी भी अपने बच्चों के साथ रात को दूसरी मंजिल पर गई थी, जो अगले दिन सुबह ही नीचे आई। इस कारण क्राइम ब्रांच सिद्धार्थ, डिम्पी और गोलू की पत्नी क्राइम ब्रांच की जांच के दायरे से बाहर हैं।

सीसीटीवी फुटेज में पहली मंजिल पर दिखे 
शक की सुई रोहित की पत्नी अपूर्वा, नौकर गोलू और चालक अखिलेश के आसपास ही घूम रही है। दरअसल, सीसीटीवी फुटेज में तीनों पहली मंजिल पर जाते हुए दिखाई दिए हैं। इसी मंजिल पर रोहित का कमरा है। इस वजह से तीनों  जांच के दायरे में हैं। तीनों ही ने पहली मंजिल पर जाने की बात भी स्वीकार की है। 

योजना के तहत नहीं की हत्या
क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी राजीव रंजन ने बताया कि अब तक की तफ्तीश में यह साफ हो गया कि हत्या प्लानिंग के तहत नहीं की गई है। इसमें किसी बाहरी शख्स का भी हाथ नहीं है। इसमें जो भी हुआ है, अचानक ही किसी बात को लेकर हुआ। पुलिस उस तत्काल कारण को तलाशने में जुटी है, जिसके कारण यह हत्या की गई। 

घर में कौन कहां रहता है
भूतल पर रोहित शेखर का भाई सिद्धार्थ रहता है। 
भूतल पर ही पिछले हिस्से में नौकरानी डम्पी रहती है। 
पहली मंजिल पर रोहित शेखर, उसकी पत्नी अपूर्वा और चालक अखिलेश हैं

कब कौन पहली मंजिल पर गया 
चालक अखिलेश रात करीब साढ़े 11 बजे पहली मंजिल पर गया 
इसके बाद नौकर गोलू रात करीब 12 बजे इस फ्लोर पर गया 
रात करीब साढ़े 12 बजे के बाद अपूर्वा इस फ्लोर पर जाते हुए दिखी
 
दो दिन में जांच पूरी होने की उम्मीद
क्राइम ब्रांच के एडिशनल सीपी राजीव रंजन ने कहा कि संभवत: दो दिनों के भीतर जांच पूरी हो जाएगी। हमने काफी हद तक कड़ियों को जोड़ लिया है। अब हम वैज्ञानिक और फॉरेसिंक जांच के आधार पर साक्ष्यों को पुख्ता कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में साफ हो चुका है कि रोहित की मुंह, नाक व गला दबाकर हत्या की गई है। लेकिन इस वारदात को अंजाम देने में सिर्फ एक आरोपी शामिल है या फिर और भी लोग शामिल हैं, इसकी जांच की जा रही है। 

पत्नी ने भेजा नौकर को तो हुआ खुलासा
क्राइम ब्रांच के मुताबिक, हत्या वाली रात के अगले दिन (16 अप्रैल) शाम करीब चार बजे अपूर्वा ने नौकर गोलू को रोहित को देखने के लिए उसके कमरे में भेजा, तब पता चला कि रोहित के मुंह से खून निकल रहा है। इसके बाद घर के लोग उसके कमरे में गए और फिर उसे आनन-फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उधर, जांच टीम ने जब मोबाइल की कॉल डिटेल रिकार्ड खंगाली तो यह भी पता चला है कि अपूर्वा के फोन से मंगलवार सुबह किसी को फोन किया गया है। 

अलग-अलग कमरों में सोते थे रोहित-अपूर्वा
जांच में खुलासा हुआ है कि रोहित शेखर और उसकी पत्नी अपूर्वा अलग-अलग कमरों में सोते थे। रोहित के कमरे में सिंगल बेड था। हालांकि, पहली मंजिल पर ही अपूर्वा का भी कमरा है, लेकिन दोनों एक साथ नहीं रहते थे। क्राइम ब्रांच के मुताबिक, रोहित के किसी महिला के संपर्क में रहने बात सामने आई थी, जबकि अपूर्वा का भी पहले से दोस्त होने की बात का खुलासा रोहित की मां उज्जवला ने किया था।

डिनर के बाद मां चली गईं 
रोहित की मां का एक सरकारी घर तिलक लेन में है। ज्यादातर वो वहीं पर रहती हैं। 15 अप्रैल की रात रोहित की मां उज्जवला शर्मा भी रोहित के डिफेंस कॉलोनी वाले घर में आई थीं, लेकिन डिनर के बाद वह तिलक लेन वाले घर में चली गई। उज्जवला के मुताबिक उस रात रोहित को जब उन्होंने देखा तो वो ठीक-ठाक था। शराब पीने के कारण वह नशे में लग रहा था।


अधिक देश की खबरें