टैग:lucknow#,Redlight#,areahitthe#,orderofthe#,HighCourt#,15WhereSeal
रेड लाइट एरिया पर गिरी हाईकोर्ट के आदेश की गाज, 15 कोठे सील
Red light area hit the order of the High Court, 15 Where Seal


मेरठ: शहर के रेड लाइट एरिया कबाड़ी बाजार स्थित कोठों पर आखिरकार हाई कोर्ट के आदेश की गाज गिर गई। इस मामले में कई दिन से टालमटोल का रवैया अख्तियार किए पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों को जब हाई कोर्ट ने फटकार लगाई तो बुधवार को कबाड़ी बाजार एरिया को छावनी में तब्दील करते हुए पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने अवैध रूप से चल रहे 15 कोठों को सील कर दिया।

कबाड़ी बाजार रेड लाइट एरिया में नाच गाने की आड़ में होने वाले वेश्यावृत्ति के धंधे को लेकर हाईकोर्ट के अधिवक्ता सुनील चौधरी ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की थी। इस याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट ने जिले के पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों को रेड लाइट एरिया स्थित सभी कोठों को बंद कराने के निर्देश जारी किए थे। इसके बावजूद पुलिस प्रशासन हीला हवाली का रवैया अख्तियार किए रहा। 

इस मामले में हाई कोर्ट को गुमराह करते हुए जिले के अधिकारियों ने कबाड़ी बाजार में कोई कोठा संचालित न किए जाने की झूठी रिपोर्ट भी दाखिल कर दी थी। इस मामले में जिले के दो अधिकारी निलंबित भी हो चुके हैं। ऐसे हालात में हाई कोर्ट ने जिले के अधिकारियों को फटकार लगाते हुए कोठों को बंद कराकर 29 मई तक रिपोर्ट सौंपने का समय दिया। इसके बाद पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने बुधवार की सुबह ही कबाड़ी बाजार रेड लाइट एरिया को छावनी में तब्दील कर दिया। सिटी मजिस्ट्रेट संजय कुमार पांडे और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों सहित कई थानों की फोर्स और पुलिस अधिकारी सुबह होते ही कबाड़ी बाजार जा पहुंचे। हालांकि हाई कोर्ट की सख्ती के चलते पुलिस को अधिकांश कोठों पर ताले लटके मिले। पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने एक-एक करके 15 कोठों को सील कर दिया। 

एसडीएम ब्रह्मपुरी सुनीता सिंह ने बताया कि लगभग 40 कोठा संचालिकाओं को प्रशासन द्वारा नोटिस जारी किए गए थे। शीघ्र ही अन्य कोठों पर भी सीलिंग की कार्यवाही की जाएगी। कोठों पर होने वाली सीलिंग की कार्यवाही के चलते क्षेत्रीय व्यापारियों ने भी राहत की सांस ली है।


अधिक देश की खबरें

इस सरकार का हुआ सूर्यास्त, लेकिन इसकी लालिमा से लोगों की जिंदगी रोशन रहेगी: PM मोदी..

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा केंद्रीय मंत्रियों का इस्तीफा स्वीकार कि‍ए जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ......