बुलंदशहर के डीएम अभय सिंह एवं प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक के महाप्रबंधक के घर सीबीआई का छापा
अवैध खनन, धन उगाही एवं अन्य बड़े अपराधों में लिप्त लोगों के यहां मंगलवार को शुरू हुई सीबीआई की छापेमारी बुधवार को भी जारी रही।


लखनऊ : अवैध खनन, धन उगाही एवं अन्य बड़े अपराधों में लिप्त लोगों के यहां मंगलवार को शुरू हुई सीबीआई की छापेमारी बुधवार को भी जारी रही। बुधवार सुबह सीबीआई की टीमों ने बुलंदशहर जिलाधिकारी अभय सिंह के ऑफिस और घर पर छापेमारी की। इस छापेमारी से जिला मुख्यालय पर हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि फतेहपुर में डीएम रहने के दौरान अवैध खनन के आरोप में सीबीआई ने यह छापेमारी की है।

मुरादाबाद में प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक में महाप्रबंधक शैलेश रंजन के घर पर भी सुबह सीबीआई की टीम ने छापेमारी की। मेरठ में पंजाब नेशनल बैंक में एजीएम रहे शैलेश रंजन हाल ही में प्रथमा यूपी ग्रामीण बैंक में महाप्रबंधक पद पर तैनात हुए हैं। गाजियाबाद नंबर की दो गाड़ियों में सवार होकर टीम रामनगंगा विहार स्थित इंपीरियल ग्रीन के फ्लैट में पहुंची। उनके चालक को बाहर रोक दिया और टीम ने अंदर से कमरा बंद कर लिया। 

सीबीआई टीम की जानकारी मिलते ही पूरी कॉलोनी में खलबली मच गई। मंगलवार को भी सीबीआई की टीम ने पूरे देश में छापेमारी की थी। बसपा सुप्रीमो मायावती के प्रमुख सचिव तथा प्रमुख सचिव गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग रहे नेतराम(सेवानिवृत्त आईएएस) के गोमतीनगर स्थित आवास पर कागजात जब्त किए। बसपा सरकार में चीनी मिल निगम संघ के एमडी रहे विनय प्रिय दुबे (सेवानिवृत्त आईएएस) के अलीगंज स्थित घर समेत 14 ठिकानों पर भी छापेमारी की थी। सूत्रों के अनुसार सीबीआई ने करोड़ों रुपये की संपत्तियों सहित घोटाले से जुड़े कई अहम दस्तावेज कब्जे में लिए हैं। इससे पूर्व आयकर विभाग ने लोकसभा चुनाव से पहले नेतराम और उनके करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी कर 225 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्तियों के दस्तावेज कब्जे में लिए थे।


अधिक देश की खबरें