Lockdown नही होता तो देश मे Covid-19 के 70 लाख केस होते, पढ़ें पूरी रिपोर्ट
concept image


आज पूरे देश मे लॉकडाउन है, हालांकि लोगों को परेशानी बहुत हो रही है लेकिन क्या आपको पता है अगर देश मे लॉक डाउन नही होता तो क्या होता।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक कॉन्फ्रेंस की और बताया कि अगर देश मे ये बन्दी न की जाती तो करीब कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की 70 लाख केस होते। दुनिया को इसका गंभीर अंजाम भुगतना पड़ता।

लॉक डाउन की वजह से 50 हज़ार लोगों की बची ज़िन्दगी

रिपोर्ट के मुताबिक इस लॉक डाउन की वजह से करीब 50 हज़ार लोगों की ज़िन्दगी बच गयी है। कोविड के 23 लाख मामले टाले गए हैं। अनुमान लगाया गया है कि लॉक डाउन को वजह से 14- 29 लाख कोविड केस और 37-78 हज़ार लोगों का जीवन बचाया गया है।




देश का रिकवरी रेट


स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश मे रिकवरी रेट बढ़ रहा है अब ये लगभग 41% हो गया है। अभी तक देश मे 48,534 मरीज कोरोना से संक्रमित ठीक हुए है। हालांकि अभी भी 66,330 मरीजों का इलाज चल रहा है।

24 घण्टे की रिपोर्ट

बात करें पिछले 24 घण्टे की तो 3,334 मरीज़ ठीक हुए हैं। मृत्यु दर 3.02% है।

देश में 80 फीसदी कोरोना के केस 5 राज्यों में हैं. 90 फीसदी तक केस 10 राज्यों में. 60% केस 5 शहर में, 70% केस 10 शहर में, 80% मौत 5 राज्यों में हैं. उन्होंने कहा, "हमें बहुत सतर्क रहना पड़ेगा. अभी सोशल डिस्टेंसिंग में ढील नहीं दे सकते. देश में कोरोना को तेजी से फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन स्पेशल प्रयास था. जिन्होंने लॉकडाउन नहीं किया वो मुसीबतों का सामना कर रहे हैं. लॉकडाउन बहुत दिनों तक चल भी नहीं सकता. जिंदगी भी चलानी है." 

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)

अधिक देश की खबरें