भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच गोपनीय दौरे पर लद्दाख पहुंचे सेना प्रमुख नरवणे
एलएसी पर भारत ने तैनात की अतिरिक्त टुकड़ियां, मौजूदगी बनाए रखने के लिए टेंट लगाए


नई दिल्ली​ : चीन से तनातनी के बीच से​​ना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे​ ने ​एलएसी ​का दौरा किया है. पिछले कई दिनों से भारतीय सीमा में चीन घुसपैठ की कोशिश कर रहा है.​​ ​भारत और चीन की सीमा लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (​​एलएसी) पर पिछले माह चीनी सैनिकों के साथ हुई कई बार भिड़ंत के बाद भारत और चीन ने अतिरिक्त सैन्य टुकड़ियों को तैनात किया है। सीमा पर तनाव को देखते हुए ​​से​​ना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे अपने एक बेहद गोपनीय दौरे पर लद्दाख पहुंचे और एलएसी की सुरक्षा व्यवस्था के बारे में समीक्षा की है। 


सेना के प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे भारत और चीन के बीच संवेदनशील क्षेत्र वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) की सुरक्षा समीक्षा के लिए लद्दाख में 14 कोर के मुख्यालय, लेह का दौरा किया। भारत और चीनी सैनिकों के आमने-सामने आने के बाद लद्दाख सीमा पर उनका यह गोपनीय दौरा इसलिए भी अहम माना जा रहा है क्योंकि विदेश मंत्रालय ने एक दिन पहले ही अपने आधिकारिक बयान में कहा है कि सभी भारतीय गतिविधियां पूरी तरह वास्तविक नियंत्रण रेखा यानी भारतीय क्षेत्र में हो रही​​ हैं। 


दरअसल चीन का आरोप था कि भारतीय सैनिकों ने तनाव की शुरुआत की और लद्दाख और सिक्किम सेक्टरों में एलएसी को पार किया। चीनी सेना ने भारतीय सीमा पर गश्त में बाधा डालने का आरोप लगाया। हालांकि इन घटनाओं केे बाद भारत और चीन ने सीमा पर लद्दाख की गैलवान घाटी में अतिरिक्त सेनाएंं तैनात की हैं। 

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं)


अधिक देश की खबरें