संसद में बोले रक्षामंत्री, चीन कर रहा LAC में घुसपैठ की कोशिश, भारतीय सेना दे रही करारा जवाब 
राजनाथ ये भी कहा कि कुछ हिस्सों में वह अभी अवैध कब्ज़ा कर रखा है.


नई दिल्ली : केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भारत-चीन  LAC पर जारी तनाव के बीच संसद में सबको मौजूदा स्थिति के बारे अवगत कराया है.दोनों देशों के बीच अभी स्थिति चिंताजनक है, तो चीन लगातार भारतीय सीमा में कब्जा करने की कोशिश कर रहा है. राजनाथ ये भी कहा कि कुछ हिस्सों में वह अभी अवैध कब्ज़ा कर रखा है. उन्होंने कहा कि अप्रैल महीने से चीन ने सीमा पर सैनिकों और आर्म्स की वृद्धि की है.

रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि पैंगोंग से लेकर कई जगहों पर चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की. लेकिन भारतीय जवानों ने चीन की घुसपैठ की कोशिश को हर कदम पर नाकाम कर दिया. राजनाथ सिंह ने कहा कि 29-30 अगस्त को चीनी सैनिकों मे भारत में घुसपैठ की कोशिश की जिन्हें हमारे सैनिकों ने रोक दिया. 

उन्होंने कहा, ‘हमारी सेना ने भी जवाबी तैनातियां की हैं ताकि देश के सुरक्षा हितों का पूरी तरह ध्यान रखा जाए. हमारे सशस्त्र बल इस चुनौती का डटकर सामना करेंगे. हमें अपने सशस्त्र बलों पर गर्व है.’ उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बीच सशस्त्र बलों की तैनाती और उनके प्रयासों की सराहना की जानी चाहिए.

उन्होंने कहा कि मैं सदन को अवगत कराना चाहता हूं कि चीन, भारत की लगभग 38,000 स्क्वायर किलोमीटर भूमि का अनधिकृत कब्जा लद्दाख में किए हुए है. इसके अलावा, 1963 में एक तथाकथित बाउंडरी एग्रीमेंट के तहत, पाकिस्तान ने PoK की 5180 स्क्वायर किलोमीटर भारतीय जमीन अवैध रूप से चीन को सौंप दी है. 

अधिक देश की खबरें