नीतीश को नहीं भायी तेजस्वी की सफाई, कहा- फैसला होकर रहेगा
बिहार में सत्तारूढ़ आरजेडी और जेडीयू के बीच घमासान दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है।


नई दिल्ली/पटना : बिहार में सत्तारूढ़ आरजेडी और जेडीयू के बीच घमासान दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। करप्शन के आरोपों पर डेप्युटी सीएम तेजस्वी की सफाई पर गुरुवार को जेडीयू नेताओं की ओर से तल्ख बयान आए। इस मामले पर मंगलवार को ही चार दिन की डेडलाइन दे चुकी जेडीयू ने कहा कि वह तेजस्वी की सफाई से संतुष्ट नहीं है और फैसला होकर रहेगा। 

तेजस्वी की सफाई के एक दिन बाद गुरुवार को बिहार जेडीयू अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि तेजस्वी पर जो आरोप लगे हैं, उन्हें उस पर जवाब देना चाहिए। उन्होंने साथ ही कहा कि इस मामले पर फैसला होकर रहेगा। 

दूसरी तरफ जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि अभी हमें तथ्यों के साथ जवाब नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि तेजस्वी की दलीलों से पार्टी संतुष्ट नहीं है। उन्होंने कहा कि हमें उम्मीद है कि आरजेडी सकारात्मक कदम उठाएगी। 

होटल के बदले भूखंड मामले में तेजस्वी यादव ने बुधवार को बीजेपी पर निशाना साधते हुए सफाई दी ती। उन्होंने अपने खिलाफ साजिश रचे जाने की बात कहते हुए दावा किया था कि यह मामला उस समय का है जब वह बच्चे थे। 

तेजस्वी ने कहा कि यह मामला 2004 का है और उस वक्त उनके पास न तो सत्ता थी और न ही पद था। उन्होंने महागठबंधन के टूटने की किसी भी आशंका से इनकार करते हुए कहा कि 'यह अटूट है।'


अधिक देश की खबरें