असम में बाढ़ में मरने वालों की संख्या हुई 52
असम में 25 जिलों के करीब 15 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.


नई दिल्ली: असम में बाढ़ की स्थिति शुक्रवार (14 जुलाई) को भी खराब रही जहां तीन और लोगों की मौत के बाद बाढ़ संबंधी घटनाओं में मरने वालों की संख्या 52 तक पहुंच गई. वहीं, जम्मू-कश्मीर में बारिश संबंधी घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो गई. देश के कई अन्य हिस्सों में भी आज (शुक्रवार,14 जुलाई) बारिश हुई.

असम में 25 जिलों के करीब 15 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. राज्य में बाढ़ संबंधी घटनाओं में अभी तक 52 लोगों की मौत हो गई है जिनमें से आठ गुवाहाटी के लोग हैं. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का लगभग 63 प्रतिशत हिस्सा बाढ़ की चपेट में आ गया है. वहीं, ब्रह्मपुत्र नदी पांच स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है.

राष्ट्रीय राजधानी में आज (शुक्रवार,14 जुलाई) बादल छाने के साथ ही कुछ स्थानों पर धूप खिली. शाम को कुछ इलाकों में हल्की बारिश भी हुई. दिल्ली में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 36.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और न्यूनतम तापमान 28.4 डिग्री सेल्सियस रहा. हवा में आर्द्रता का स्तर 82 से 57 प्रतिशत के बीच रहा.

जम्मू-कश्मीर के रामबन और उधमपुर जिले में भारी बारिश के बाद हुए भूस्खलन के कारण बंद जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग आज (शुक्रवार,14 जुलाई) फिर खुल गया. डोडा जिले में एक परिवार के तीन सदस्यों की मौत शुक्रवार (14 जुलाई) सुबह भारी बारिश के बाद उनका घर ढहने से हो गई.

राजस्थान के कई स्थानों पर गुरुवार (13 जुलाई) रात से हो रही भारी बारिश के बाद आज (शुक्रवार,14 जुलाई) ज्यादातर इलाकों में अधिकतम तापमान 32 से 36 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा. चंडीगढ़ सहित पंजाब और हरियाणा के ज्यादातर हिस्सों में अधिकतम तापमान सामान्य के नजदीक रहा. दोनों राज्यों की साझा राजधानी में अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 34.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

हिमाचल प्रदेश के कुछ स्थानों पर हल्की बौछारें पड़ीं. वहीं, राज्य के अन्य इलाकों में मौसम शुष्क रहा. बिहार के कुछ हिस्सों में भी हल्की से मध्यम बारिश हुई. पटना और भागलपुर में गुरुवार (13 जुलाई) से क्रमश: 3.4 मिमी और 3.1 मिमी बारिश दर्ज की जा चुकी है.

पूरे महाराष्ट्र में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के सक्रिय होने के कारण किसानों को राहत मिली. गुरुवार (13 जुलाई) रात से हो रही भारी बारिश के बाद गोदावरी नदी में पानी का स्तर बढ़ गया है. भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार गोवा में अगले दो दिनों में तेज हवाएं चलने के साथ ही भारी बारिश होने की संभावना है. विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गई है.


अधिक देश की खबरें