पाक सेना की फायरिंग में एक जवान शहीद, एक बच्ची की भी मौत
राजौरी के मनजाकोटे सेक्टर से लगी सीमा के पास भी पाकिस्तानी सेना जमकर फायरिंग कर रही है।


श्रीनगर : जम्मू एवं कश्मीर के भीम्बर गली सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर भारत और पाकिस्तानी सेना के बीच भारी गोलाबारी हो रही है। सोमवार सुबह से ही पाकिस्तानी सेना यहां संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए जमकर फायरिंग कर रही है। इस गोलीबारी की चपेट में आकर भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया। शहीद मुद्दसर अहमद जम्मू-कश्मीर के त्राल सेक्टर के रहने वाले थे। वह राजौरी सेक्टर में ड्यूटी पर तैनात थे। राजौरी के मनजाकोटे सेक्टर से लगी सीमा के पास भी पाकिस्तानी सेना जमकर फायरिंग कर रही है। पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग के कारण अहमद को अपनी जान गंवानी पड़ी। साथ ही, पाकिस्तान द्वारा की जा रही गोलीबारी के कारण पुंछ सेक्टर में एक बच्ची की भी मौत हो गई है। सीमा पर जारी फायरिंग के मद्देनजर सोमवार को दोनों देशों के DGMO के बीच फोन पर बातचीत हुई। 

पाकिस्तानी गोलीबारी के कारण राजौरी सेक्टर में एक महिला घायल हो गई है। उन्हें इलाज के लिए स्थानीय अस्पताल में ले जाया गया है। राजौरी के DDC ने बताया कि पाक सेना द्वारा की जा रही फायरिंग के कारण 2 आम नागरिक गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। स्थानीय स्कूलों को एहतियातन अनिश्चित समय के लिए बंद कर दिया गया है। जैसी ही गोलीबारी रुकती है, वैसे ही प्रभावित इलाकों से लोगों को निकालकर सुरक्षित जगहों पर ले जाया जाएगा। 

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष मेहता ने कहा कि पाकिस्तानी सेना ने बिना किसी उकसावे के नियंत्रण रेखा पर भारतीय चौकियों को निशाना बनाकर भारी गोलाबारी शुरू कर दी। न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कर्नल मेहता ने बताया, 'पाकिस्तानी सेना ने सोमवार सुबह 7.30 बजे छोटे, स्वचालित हथियारों और मोर्टारों से गोलीबारी शुरू की, जो अब तक जारी है।' कर्नल ने कहा कि भारतीय सेना पाकिस्तान द्वारा बिना किसी उकसावे के की जा रही इस गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। 

नियंत्रण रेखा पर हो रही गोलीबारी और दोनों पक्षों के बीच के तनाव को लेकर भारत और पाकिस्तान के DGMO ने फोन पर बातचीत की। दोनों पक्षों के बीच नियंत्रण रेखा के हालात पर चर्चा हुई। सेना द्वारा जारी एक बयान में इस बात की जानकारी दी गई है। बयान के मुताबिक, सोमवार को दोनों DGMO ने आपस में बात की। बातचीत के दौरान पाकिस्तानी सेना के DGMO ने भारतीय सेना द्वारा की गई कार्रवाई में मारे गए 4 पाक सैनिकों की मौत का मसला भी उठाया। भारतीय पक्ष की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में कुपवाड़ा सेक्टर से लगी सीमा के पार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) में एक नागरिक के मारे जाने की भी खबर है। भारतीय सेना के DGMO ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष को दो-टूक जवाब देते हुए कहा कि हर बार पाकिस्तानी सेना संघर्षविराम का उल्लंघन करती है और भारत जवाबी कार्रवाई करता है। बयान में यह भी बताया गया है कि भारतीय सेना ने न केवल पाकिस्तानी सेना द्वारा की जा रही फायरिंग का माकूल जवाब दिया, बल्कि भारत में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे आतंकियों पर भी फायरिंग की। 

DGMO इंडिया ने इस बातचीत के दौरान पाकिस्तान द्वारा घुसपैठी आतंकियों को दी जा रही मदद का मुद्दा भी उठाया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान इन घुसपैठियों को सीमा पार कराने में मदद देता है और इसके कारण दोनों देशों की नियंत्रण रेखा (LoC) पर शांति भंग होती है। साथ ही, इससे भारत की आंतरिक सुरक्षा भी प्रभावित होती है।


अधिक देश की खबरें