गायों को लेकर सियासत करते हैं BJP और संघ : राहुल गांधी
राहुल ने कहा कि वह झूठ बोलने या भाजपा की तरह कोरा आश्वासन देने नहीं बल्कि किसान के दिल का दर्द समझने आये हैं।


शाहजहांपुर : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर गायों को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि देवरिया से यहां तक की अपनी किसान यात्रा के दौरान उन्होंने गायों की दुर्दशा देखी है और गोरक्षा का दम भरने वाली भाजपा तथा संघ उनकी सुध नहीं ले रहे हैं।

राहुल ने कल शाम पुवांया में आयोजित खाट सभा में किसानों से कहा ‘भाजपा और आरएसएस के लोग दलाल हैं। यह लोग गायों को लेकर राजनीति करते हैं जबकि देवरिया से यहां तक मैने गायों की दुर्दशा देखी है। (नरेन्द्र) मोदी जी ने गायों को चुनावी स्टंट बना रखा है।’ उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में गायें सड़कों पर मरने को मजबूर हैं और कोई तथाकथित गोरक्षक उनकी सुध नहीं ले रहा है। दरअसल, गायें आस्था का केन्द्र नहीं बल्कि सियासत का औजार बनायी जा रही हैं।

राहुल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर एक बार फिर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी ने गत लोकसभा चुनाव के प्रचार के दौरान कहा था कि वह हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देंगे और काले धन के 15-15 लाख रूपये हर नागरिक को दिये जाएंगे लेकिन किसी को ना तो रोजगार मिला और ना ही किसी के खाते में 15 लाख रुपये आये।

उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस की सरकार ही है जो अगर कुछ कहती है तो उसे करती भी है। कांग्रेस ने वर्ष 2008 में किसानों का 70 हजार करोड़ रूपये का कर्ज माफ किया था और जिस दिन हिन्दुस्तान में कांग्रेस की सरकार बनेगी हम दस दिन के अन्दर कर्ज माफ करके दिखा देंगे।

राहुल ने कहा कि वह झूठ बोलने या भाजपा की तरह कोरा आश्वासन देने नहीं बल्कि किसान के दिल का दर्द समझने आये हैं। ‘कांग्रेस की सरकार बनते ही किसानों की हरसम्भव मदद की जायेगी।’ उन्होंने कहा कि साल 2014 में मोदी ने वादा किया था कि वह किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिये अनाज और गन्ने के वाजिब दाम दिलाएंगे, लेकिन स्थिति यह है कि हिन्दुस्तान के किसान को लाभकारी मूल्य तो दूर, लागत मूल्य भी नहीं मिल पा रहा है।

राहुल ने कहा कि 27 साल से उत्तर प्रदेश में साइकिल (सपा) और हाथी (बसपा) की सरकार आई। यह दोनों ही सरकारें सिर्फ चुनिंदा लोगों या जातियों के लिये ही काम करती हैं। बसपा में यह लाभ केवल मायावती को होता है क्योंकि चुनाव के समय वह प्रत्याशियों को लूटती हैं और चुनाव जीतने के बाद उनका विधायक अपने क्षेत्र में लूट खसोट मचाता है। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा ‘आप लोगों ने एक युवा नेता को मुख्यमंत्री चुना है। साढ़े चार साल में यह युवा नेता वहीं का वहीं खड़ा है। पूरे प्रदेश में गुण्डागर्दी चरम पर है। ऐसे में प्रदेश का मजबूर युवा अपने पैरों पर खड़ा नहीं हो सकता।’


अधिक राज्य की खबरें