पाकिस्तान के खिलाफ गिलगित-बाल्तिस्तान में सड़कों पर उतरे लोग
कश्मीर से सटे गिलगित-बाल्तिस्तान में एक बार फिर पाकिस्तान के खिलाफ चिंगारी भड़क गई है.


नई दिल्ली : पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) से सटे गिलगित-बाल्तिस्तान में एक बार फिर पाकिस्तान के खिलाफ चिंगारी भड़क गई है. इस बार इस चिंगारी को भड़काने के काम किया है पाकिस्तान द्वारा थोपे गए टैक्स कानून ने. यहां की जनता इन टैक्स कानून को गैरकानूनी करार देते हुए पाक सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर आई है. स्कर्दू शहर में सरकार के खिलाफ बड़े पैमाने पर धरने-प्रदर्शन हो रहे हैं. शनिवार की सुबह ही स्कर्दू के लोग घरों से बाहर सड़कों पर उतर आए और हाथों में पाकिस्तान के खिलाफ नारे लिखे पोस्टर और बैनर लेकर प्रदर्शन करने लगे. स्कर्दू गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र का एक ज़िला है. 

एक प्रदर्शनकारी ने भीड़ को संबोधित करते हुए कहा, 'मैं गिलगिट-बाल्तिस्तान के लोगों, जो करांची, क्वेटा, लाहौर समेत पाकिस्तान के अन्य इलाकों में रह रहे हैं, से अनुरोध करता हूं कि वे भी अपने-अपने शहरों में सड़कों पर उतर कर पाक सरकार के इस कदम का विरोध करें.' स्कर्दू के कारोबारियों का कहना है कि वे प्रदर्शनकारियों के साथ हैं और जब तक पाकिस्तान इन करों को वापस नहीं लेता है, वे विरोध जारी रखेंगे. 



बता दें कि गिलगित-बाल्तिस्तान में समय-समय पर पाकिस्तान की नीतियों और फैसलों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन होते रहते हैं. पिछले 30 अक्टूबर को यहां के लोगों ने 'ब्लैक डे' मनाया था. 'ब्लैक डे' का आयोजन आजादी के समय 22 अक्टूबर, 1947 को पाकिस्तानी सेना ने यहां एक बड़ा हमला किया था. उसी हमले की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर समूचे पाक अधिकृत कश्मीर में लोगों ने विरोध प्रकट किया था.


अधिक देश की खबरें