जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने 6 आतंकियों को किया ढेर, एक जवान भी शहीद
सेना और राज्य सरकार की यह भी कोशिश है कि भटके हुए नौजवानों को वापस मेन स्ट्रीम में लाया जाए.


जम्मू : उत्तरी कश्मीर के बांदीपुरा जिले में शनिवार (18 नवंबर) को एक मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने छह आतंकवादियों को ढेर कर दिया. इस दौरान वायुसेना का एक गरुड़ कमांडो शहीद हो गया. यह जानकारी एक रक्षा प्रवक्ता ने दी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में खुफिया सूचना मिलने के बाद जिले के हाजिन इलाके में चंदरगीर गांव में घेराबंदी की और तलाशी अभियान चलाया. तलाशी अभियान के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी और फिर मुठभेड़ शुरू हो गई. श्रीनगर स्थित रक्षा प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने यहां कहा, ‘हाजिन में जारी मुठभेड़ में छह आतंकवादी मारे गए हैं.’ उन्होंने बताया कि इस दौरान वायुसेना का एक गरुड़ कमांडो शहीद हो गया और एक सैनिक घायल हो गया. गरुड़ कमांडो बल वायुसेना की विशेष बल इकाई है.

आपको बता दें कि कश्मीर में आतंकियों के सफाए के लिए भारतीय सुरक्षाबलों ऑपरेशन ऑल आउट चला रखा है. इस दौरान कश्मीर में कई बड़े आतंकियों को मौत के घाट उतारा जा चुका है. सेना और राज्य सरकार की यह भी कोशिश है कि भटके हुए नौजवानों को वापस मेन स्ट्रीम में लाया जाए. इसी कवायद के चलते. फुटबॉलर से आतंकी बने माजिद खान ने शुक्रवार को सुरक्षा बलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. इस बात की पुष्टि रक्षा विभाग के सूत्रों ने की है. माजिद खान जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग का रहने वाला है और वह एक अच्छा फुटबॉल खिलाड़ी रहा है. पिछले हफ्ते ही उसके फुटबॉल छोड़कर बंदूक थामने की खबरें आई थीं. इस तरह की सूचना थी कि वह लश्कर-ए-तैयबा में शामिल हो गया है.

63 फीसद लोग चाहते हैं जम्मू कश्मीर में और सैन्य बलों का हो इस्तेमाल: सर्वे
एक सर्वेक्षण में शामिल हुए 60 फीसद से ज्यादा लोगों का मानना है कि केंद्र को जम्मू कश्मीर में ज्यादा सैन्य बलों का इस्तेमाल करना चाहिये. अमेरिकी सर्वेक्षण एजेंसी प्यू रिसर्च सेंटर ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. पिछले साल जुलाई में सुरक्षा बलों के हाथों हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वाणी के मारे जाने के बाद से ही राज्य के हालात तनावपूर्ण थे. इसके बाद से ही घाटी में सुरक्षा बलों और स्थानीयों लोगों के बीच व्यापक झड़प देखने को मिली थी. प्यू रिसर्च सेंटर द्वारा किए गए सर्वेक्षण के मुताबिक 63 फीसद लोग जम्मू कश्मीर में सैन्य बलों के और इस्तेमाल के हिमायती है. पाकिस्तान के खिलाफ 64 फीसद लोग बेहद ‘प्रतिकूल’ नजरिया रखते हैं जो पिछले साल के मुकाबले नौ फीसद ज्यादा है.


अधिक देश की खबरें