राहुल गांधी जनेऊधारी हिंदू हैं: रणदीप सुरजेवाला
रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कई सबूतों के साथ सफाई दी।


नई दिल्ली : गुजरात विधानसभा चुनावों के बीच बुधवार को सोमनाथ मंदिर में दर्शन के दौरान एंट्री रजिस्टर में राहुल गांधी का नाम गैर-हिंदू के रूप में दर्ज होने पर सियासी घमासान मचा हुआ है। विवाद के बाद कांग्रेस की तरफ से सफाई दी गई है। कांग्रेस ने एंट्री रजिस्टर में राहुल का नाम दर्ज होने के पीछे बीजेपी को निशाने पर लिया है। 

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल के साथ सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल का नाम भी एंट्री रजिस्टर में है। इस बीच विवाद के सामने आने के बाद दिल्ली और गुजरात में में कांग्रेस की तरफ से प्रेस कॉन्फ्रेंस की गई। गुजरात में पार्टी के वरिष्ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि राहुल गांधी जी सिर्फ हिंदू नहीं हैं, बल्कि वह जनेऊधारी हिंदू हैं। 

रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कई सबूतों के साथ सफाई दी। सुरजेवाला ने कांग्रेस उपाध्यक्ष की तीन तस्वीरें भी जारी की हैं। एक तस्वीर में वह अपने पिता राजीव गांधी के अंतिम संस्कार के दौरान अस्थियां इकट्ठा कर रहे हैं, जबकि दूसरी तस्वीर में राहुल जनेऊ पहने नजर आ रहे हैं। वहीं एक तस्वीर में कांग्रेस उपाध्यक्ष अपनी बहन प्रियंका के साथ हैं। 

कांग्रेस ने जारी की राहुल की जनेऊ वाली तस्वीरें 

सुरजेवाला ने इस दौरान कहा, 'मुझे यह कहने में कोई हिचकिचाहट नहीं है कि राहुल गांधी न केवल हिंदू हैं, बल्कि जनेऊधारी हैं। देश के लोग देख लें कि एक बेटा जनेऊ धारण कर अपने पिता की अंतिम अस्थियों को किस प्रकार चुनता है।' 

एंट्री रजिस्टर में राहुल के नाम पर मचे सियासी घमासान की निंदा करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि बीजेपी को राजनीतिक संवाद को इस घटिया स्तर तक लेकर नहीं जाना चाहिए। सुरजेवाला ने कहा कि न तो यह हस्ताक्षर राहुल गांधी का है और न ही यह वह रजिस्टर है, जो एंट्री के समय राहुल गांधी को दिया गया। 

क्या है सोमनाथ एंट्री रजिस्टर का विवाद 
गौरतलब है कि बुधवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल सोमनाथ मंदिर दर्शन के लिए पहुंचे थे। मंदिर परिसर में लगे बोर्ड पर स्पष्ट लिखा है कि सोमनाथ एक हिंदू मंदिर है और गैर-हिंदू अनुमति लेने के बाद ही इसमें प्रवेश और दर्शन कर सकते हैं। साथ ही इसके लिए बनाए गए रजिस्टर में गैर-हिंदुओं को अपना नाम और विवरण भरना होता है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, राहुल गांधी के मीडिया कोऑर्डिनेटर मनोज त्यागी ने सोमनाथ मंदिर के एंट्री रजिस्टर में राहुल गांधी और अहमद पटेल का नाम दर्ज किया। इसके बाद यह सवाल उठने लगा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष को गैर-हिंदू के तौर पर एंट्री क्यों करनी पड़ी। 

उधर, इस मुद्दे पर उठे विवाद के बाद सफाई देते हुए कांग्रेस नेता दीपेंद्र हुड्डा ने बीजेपी को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया। हुड्डा ने कहा कि बीजेपी मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ऐसा कर रही है। उन्होंने कहा कि सोमनाथ मंदिर के रजिस्टर में राहुल गांधी जी लिखा दिख रहा है। अगर राहुल अपना नाम लिखते, तो खुद अपने नाम के बाद 'जी' क्यों लगाते। 

बता दें कि आज पीएम मोदी ने भी सोमनाथ मंदिर में राहुल के दर्शन को लेकर राहुल गांधी पर निशाना साधा। पीएम ने कहा, 'आज सोमनाथ मंदिर को याद करने वाले क्या अपना इतिहास भूल गए। आपके (राहुल गांधी) ही परिवार के सदस्य और हमारे पहले प्रधानमंत्री यहां पर सोमनाथ मंदिर बनाए जाने के विचार से खुश नहीं थे।' 


अधिक देश की खबरें