गुजरात चुनाव: राहुल गांधी ने कहा, अय्यर की बात करने वाले पीएम मोदी करप्शन को भूले
प्रधानमंत्री तो मणिशंकर अय्यर के बयान पर खूब बात करते हैं लेकिन वह गुजरात में करप्शन को भूल गए।


पाटन : गुजरात चुनाव के पहले चरण की वोटिंग के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बीच जुबानी जंग जारी है। पीएम मोदी ने लूनावडा की चुनावी रैली में कांग्रेस के कथित नेता सलमान निजामी के विवादित बयान पर कांग्रेस को घेरा तो राहुल गांधी ने भी गुजरात के पाटन की चुनावी रैली में पलटवार किया। 

राहुल गांधी ने कहा, 'प्रधानमंत्री तो मणिशंकर अय्यर के बयान पर खूब बात करते हैं लेकिन वह गुजरात में करप्शन को भूल गए। कुछ करीबी कारोबारियों को गुजरात के किसानों की बेशकीमती जमीन बेहद सस्ती दर पर दे दी गई। पीएम अब रोजगार की बात नहीं करते हैं। नोटबंदी के दौरान उन्होंने पूरे देश को लाइन में लगा दिया। नोटबंदी से सबसे अधिक काले धन वालों को फायदा हुआ। नोटबंदी से बात नहीं बनी तो गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) लागू कर दिया। गब्बर सिंह टैक्स में पांच तरह के टैक्स हैं। पीएम मोदी को बताना चाहिए कि वह चौकीदार हैं या भागीदार।'

राहुल ने कहा, 'जादू का खेल है... 33 हजार करोड़ रुपये आपकी जमीन, आपकी बिजली... सब गायब हो गया। मजा आ गया! किसको 5-10 उद्योगपतियों को। बाद में यह जमीन उद्योगपतियों ने बेहद महंगी दर पर बेच डाली। इससे सबसे ज्यादा नुकसान गुजरात की जनता को हुआ।' 

केंद्र और राज्य सरकार को घेरते हुए राहुल ने कहा, 'बीजेपी जनता को भ्रमित करने के लिए बार-बार मुद्दा बदल लेती है। कभी बीजेपी ने कहा था कि वह नर्मदा नदी के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी। पता चला कि गांव में नर्मदा का पानी आया ही नहीं। ऐसे में बीजेपी ने कदम पींछे खीच लिए। बीजेपी ने कहा कि हम किसी और मुद्दे पर चुनाव लड़ेंगे। गुजरात चुनाव में बीजेपी बार-बार अपनी बातों से पीछे हट रही है।' 

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि यह चुनाव राहुल गांधी या नरेंद्र मोदी का नहीं है। यह चुनाव देश के भविष्य के बारे में है। गुजरात की जनता यह तय करेगी कि उसे किस दिशा में जाना है। कांग्रेस पार्टी बीजेपी के खोखले वादों पर यकीन नहीं करती है। हम गुजरात को विकास के पथ पर ले जाना चाहते हैं और हमारा प्रयास जारी रहेगा। 


अधिक देश की खबरें