जलियांवाला बाग नरसंहार को लेकर ब्रिटिश सरकार का माफी मांगने से इनकार
पाकिस्तानी मूल के सादिक खान भारत और पाकिस्तान के तीन-तीन शहरों की आधिकारिक यात्रा के तहत अमृतसर दौरे पर आए थे।


लंदन : ब्रिटेन ने लंदन के मेयर सादिक खान की उस मांग को खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने कहा था कि जलियांवाला बाग नरसंहार को लेकर ब्रिटिश सरकार को माफी मांगनी चाहिए। विदेश कार्यालय ने माफी मांगने से इनकार करते हुए इसकी जगह चार साल पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री डेविड कैमरन के बयान को दोहराया है जिसमें उन्होंने जलियांवाला बाग कांड की निंदा करते हुए इसे बेहद शर्मनाक कृत्य बताया था। 

विदेश कार्यालय ने कहा, 'पूर्व प्रधानमंत्री ने 2013 में जलियांवाला बाग के दौरे पर नरसंहार को ब्रिटेन के इतिहास में बेहद शर्मनाक कृत्य करार दिया था और साथ ही ऐसी घटना बताया था जिसे नहीं भूलना चाहिए।' बयान के मुताबिक, 'यह सही है कि हम मृतकों के प्रति सम्मान रखते हैं और घटना को याद रखते हैं। ब्रिटिश सरकार इस घटना की निंदा करती है।' 

लंदन के मेयर सादिक खान ने अपने अमृतसर दौरे पर बड़ा बयान देते हुए कहा था कि वक्त आ गया है कि ब्रिटिश सरकार जलियांवाला बाग नरसंहार के लिए माफी मांगे। पाकिस्तानी मूल के खान भारत और पाकिस्तान के तीन-तीन शहरों की आधिकारिक यात्रा के तहत अमृतसर दौरे पर आए थे। 

उन्होंने जलियांवाला बाग नरसंहार के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की और विजिटर्स बुक में लिखा कि अब वक्त आ गया है कि ब्रिटिश सरकार सन् 1919 में हुए जलियांवाला बाग नरसंहार के लिए माफी मांगे। सादिक खान ने बताया कि उनके लिए जलियांवाला आना एक अद्भुत अनुभव रहा है। उन्होंने लिखा 'जलियांवाला बाग आने का अनुभव अद्भुत है और यहां जो त्रासदी हुई थी उसे कभी भी भुलाया नहीं जा सकता।' 


अधिक विदेश की खबरें

चीन की चुनौती से निपटने के लिए साथ आए भारत और जापान, नौसैनिक अड्डों के साझा इस्तेमाल पर होगा समझौता!..

चीन की बढ़ती विस्तारवादी रवैये को रोकने के लिए जापान भारत के साथ सैन्य समझौता करना चाहता ... ...