कश्मीरी फ़ूड फेस्टिवल में होटल रेडिसन पेश कर रहा है कश्मीरी खानों का लाजवाब ‘स्वाद’
kashmiri Food Festival At Hotel Raddison


लखनऊ, कश्मीर के व्यंजनों में एक ओर चिनार के फूलों का लाल सुर्ख रंग नजर आता है तो दूसरी तरफ वहां के जायके में वहीं की सरजमीं में उपजी केसर की खुशबू मदमस्त कर देती है। कश्मीरी चाय 'कहवा' की चुस्की के साथ कश्मीरी व्यंजनों का स्वाद चखाने को तैयार है राजधानी का होटल रेडिसन. तो जाती जाती सर्दियों में मजा लीजिए होटल रेडीसन लखनऊ सिटी सेंटर स्थित रेस्टोरेंट ‘कैप्रिस’ में. को कश्मीरी फूड फेस्टिवल 19 जनवरी से 25 जनवरी तक चलेगा.

इस फ़ूड फेस्टिवल में आपको मिलेगा ‘तबक मांस, सब्ज हाक, रूवागन चमन, नादिर मुंज, गुश्तबा, रिस्ता, कुंग फिरनी’ जैसे तमाम स्वादिष्ट कश्मीरी कुजिंस का स्वाद. इन खानों को तैयार किया कश्मीरी सेफ जाहिर अब्बास वानी व मंजूर अहमद वानी ने. 


कश्मीरी खानों की खासियत बताते हुए दोनों सेफ ने कहा कि जैसा कि आप जानते कि कश्मीर एक ठंडा इलाका है इसलिए कश्मीरी खानों की जो तासीर होती है वो गर्म होती है और इसका जो कारण है वो ये कि कश्मीरी खाने शुद्ध गर्म मसालों से तैयार होते है. सिर्फ इतना ही नहीं कश्मीरी कुजीन की एक खासियत ये भी है कि उसकी तरी में दही का इस्तेमाल बहुतायत में होता है, जिसके कारण वह काफी गाढ़ी होती है. मीट के व्यंजनों में खुशबू के लिए हींग का भी इस्तेमाल किया जाता है. भोजन को स्वादिष्ट और खुशबूदार बनाने के लिए इलायची, दालचीनी, लौंग और केसर का इस्तेमाल किया जाता है.

कश्मीर केसर की जमीं है, इसलिए पुलाव और मिठाइयों में रंग और महक इसी केसर से लाई जाती है. तरी में अखरोट, बादाम और किशमिश का भी प्रयोग होता है. ठंडी जगह होने के कारण और शरीर में गर्मी बनाए रखने के लिए यहां के खाने में घी का प्रयोग काफी मात्रा में किया जाता है, पर कभी-कभी सरसों के तेल का भी इस्तेमाल होता है.


शेफ ने बताया कि कश्मीरी फूड लखनऊ शहर के लोगों को जरूर पसंद आएगा. क्योंकि लखनऊ वाले खाने के बहुत शौकीन होते हैं, और कश्मीरी फूड में वेज एवं नॉन वेज डिशेज की भरमार है. हर डिश एक दूसरे से बिल्कुल अलग है एवं कश्मीरी व्यंजनों का स्वाद तमाम दुर्लभ मसालों का अद्भुत संगम कहा जाता है. उन्होने कहा कि कश्मीरी खान पान का अपना फ्लेवर रहा है, इसमें शाकाहारी और नॉन-वेज दोनों में एक बढ़कर एक व्यंजन परोसे जाते हैं. इस फूड फेस्टिवल में तबक मांस, सब्ज हाक, रूवागन चमन, नादिर मुंज, गुश्तबा, रिस्ता, कुंग फिरनी जैसे तमाम स्वादिष्ट व्यंजनों का लखनऊवासी लुत्फ उठा सकते हैं.



आपको बता दें कि होटल रेडीसन लखनऊ सिटी सेंटर स्थित ‘रेस्टोरेंट कैप्रिस’ में हाल ही में शुरू हुई ‘कुलिनरी एकेडमी‘ में हर माह फूड फेस्टीवल का आयोजन किया जायेगा जिसका आगाज कश्मीरी फूड फेस्टीवल से किया गया. उसके बाद फरवरी में पंजाबी फूड फेस्टीवल, मार्च में उत्तर प्रदेश के व्यंजनों का फूड फेस्टीवल, अप्रैल में बिहार, मई में राजस्थान, जून में गुजरात, जुलाई में महाराष्ट्र, अगस्त में पश्चिम बंगाल, सितम्बर में आन्ध्र प्रदेश, अक्टूबर में गोवा, नवम्बर में तमिलनाडू एवं दिसम्बर में केरल के व्यंजनों को न सिर्फ ‘कुलिनरी एकेडमी‘ में बनाना सिखाया जायेगा बल्कि प्रतिभागी इन अलग-अलग राज्यों के व्यंजनों का लुत्फ भी उठा सकेंगे. 

इस मौके पर रेडीसन लखनऊ सिटी सेंटर के एग्जीक्यूटिव शेफ मनविन्दर सिंह,, शेफ शाबिर अली, शेफ कपिल कुमार, कमल छाबड़ा (फूड एण्ड बेवरेज मैनेजर) एवं जनरल मैनेजर आर.पी. सिंह मौजूद रहे.  


अधिक बिज़नेस की खबरें