सरकार की नहीं है रामराज्य रथ यात्रा, पर शहर आए तो स्वागत कीजिए: केशव प्रसाद मौर्य
सरकार की नहीं है रामराज्य रथ यात्रा, पर शहर आए तो स्वागत कीजिए: केशव प्रसाद मौर्य
keshav prasaad maurya


लखनऊ, उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने बुधवार को कहा कि रामराज्य रथ यात्रा सरकार की नहीं है. मेरठ पहुंचे डिप्टी सीएम ने इसके साथ ही कहा कि लेकिन अगर रामराज्य रथयात्रा आपके शहर में आए तो उसका स्वागत कीजिए. केशव मौर्य ने 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर कहा​ भारतीय जनता पार्टी को जनता का आर्शीवाद जरूर मिलेगा. उन्होंने दावा किया कि 2019 में 300 का आंकड़ा पार करेंगे. उन्होंने बसपा सुप्रीमो के लिए कहा कि मायावती जिससे हाथ मिलाना हो मिला लें, कोई फर्क नहीं पड़ता. विपक्ष गठबंधन बनाए या महागठबंधन, नरेंद्र मोदी के अश्वमेघ का घोड़ा रुकने वाला नहीं है.

वहीं यूपी इन्वेस्टर्स समिट को लेकर डिप्टी सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बहुत बड़ा निवेश आने वाला है. उत्तर प्रदेश में उद्योगों की बाढ़ आएगी. राम मंदिर मसले पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार की मंदिर निर्माण में कोई भूमिका नहीं है. इसमें दो पक्षकार हैं. मामला सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है. सरकार बातचीत का कोई प्रयास नहीं कर रही है.

बता दें अयोध्या से मंगलवार को रामराज्य रथ यात्रा की शुरुआत हो गई. 6 राज्यों से होकर गुजरने वाली यह रथ यात्रा राम नवमी के दिन 25 मार्च को रामेश्वरम में समाप्त होगी. विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय महामंत्री चंपत राय ने रथ यात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया.

इस रथ यात्रा के राजनीतिक मायने भी निकाले जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुटी बीजेपी एक बार फिर भगवान राम के शरण में है. पार्टी जहां एक तरफ ओरछा के ‘राम राजा सरकार’ के दरबार में 14-15 फरवरी को दो दिवसीय शिविर लगाकर अपनी रणनीति का मंथन करने जा रही है.


अधिक राज्य की खबरें