पाकिस्तान: 7 साल की बच्‍ची के बलात्कारी और हत्‍यारे को सजा ए मौत, 4 दिन में हुआ फैसला
File Photo


पाकिस्तान की एक आतंकवाद निरोधी अदालत ने सात वर्षीय बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या के मामले में शनिवार को एक सीरियल किलर को मौत की सजा सुनाई. देश के इतिहास में यह पहला मौका है जब महज चार दिन में मामले की सुनवाई पूरी कर ली गयी. कड़ी सुरक्षा के बीच कोट लखपत जेल में एटीसी जज सज्जाद हुसैन ने सजा सुनाई.

उन्होंने 23 वर्षीय इमरान अली को बच्ची के अपहरण, नाबालिग से बलात्कार, बच्ची की हत्या और अव्यस्क से अप्राकृतिक कृत्य करने का दोषी पाते हुए मौत की सजा मुकर्रर की.

इमरान को नाबालिग के शव को क्षत विक्षत करने के मामले में सात वर्ष की सजा के साथ दस लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया. इस जघन्य वारदात की पूरे देश में काफी निंदा हुई थी और लोगों में आक्रोश के भाव देखने को मिले थे.

बता दें कि 5 जनवरी को कसूर शहर में ट्यूशन पढ़ने के लिए घर से निकली जैनब लापता हो गई थी. इसके बाद 9 जनवरी को उसका शव बड़ी बुरी हालत में कूड़े के ढेर में मिला था. पुलिस जांच में पता चला था कि रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी. इस घटना को लेकर पाकिस्तान सहित पूरी दुनिया के लोगों ने कानून व्यवस्था को लेकर गुस्सा जताया था. दोषी ने पुलिस पूछताछ में बताया कि अपने 'पीर' के हुक्म पर उसने ये जुर्म किए.


अधिक विदेश की खबरें