सोनिया गांधी की इस बात से सन्न रह गए पुराने कांग्रेसी!
File Photo


नई दिल्ली, कांग्रेस की स्टीयरिंग कमेटी ने राहुल के अध्यक्ष पद पर चयन पर बाकायदा मुहर लगाने के लिए 16 से 18 मार्च तक दिल्ली में प्लेनरी सेशन बुलाने का फैसला लिया है. वहीं पर राहुल गांधी की नई कांग्रेस कार्यसमिति की पहली झलक भी मिल सकती है.

स्टीयरिंग कमेटी में जब राहुल के बोलने की बारी आई, तो उन्होंने पार्टी में युवाओं, महिलाओं और पिछड़े तबके के लोगों को तरजीह देने की वकालत की. उसी दौरान जब राहुल पार्टी को नया लुक देने की बात कर रहे थे, तभी सोनिया गांधी ने मुस्कराते हुए तपाक से कहा, 'यहां तो सभी पुराने चेहरे ही नज़र आ रहे हैं.' सोनिया के इस बयान के बाद सभी पुराने कांग्रेसियों के चेहरे पर तनाव साफ दिखने लगा.

सोनिया गांधी ने संसद में पार्टी नेताओं को संसदीय दल के अध्यक्ष की हैसियत से संबोधित करते हुए कहा था कि अब राहुल गांधी उनके भी बॉस हैं. सभी पार्टी नेताओं को संकेत दे दिया गया कि अब राहुल ही सबके नेता हैं और पार्टी में खेमेबंदी छोड़कर सबको राहुल के पीछे खड़ा होना होगा.

सोनिया ने जो संसद में कहा उसकी बानगी स्टीयरिंग कमेटी की बैठक से ठीक पहले देखने को भी मिली. हुआ कुछ यूं कि अपने आवास 10 जनपथ से सोनिया गांधी बैठक में हिस्सा लेने के लिए 24 अकबर रोड की तरफ बढ़ चलीं, लेकिन तब तक अध्यक्ष राहुल गांधी रास्ते मे ही थे. सोनिया गांधी ने कुछ मिनट रुककर बेटे और पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी का इंतज़ार किया और फिर उनके आ जाने के बाद उनसे साथ ही बैठक में पहुंचीं.

कांग्रेस स्टीयरिंग कमेटी की शनिवार को हुई बैठक के बाद अब ये बात तय है कि नई कांग्रेस कार्यसमिति में युवा चेहरों का बोलबाला होगा. पब्लिसिटी से दूर रहकर तन-मन से ज़मीन पर पार्टी का काम करने वाले कुछ नेता राहुल गांधी की नई टीम में जगह पा सकते हैं. कुछ चौकाने वाले नाम संगठन में भी शामिल हो सकते हैं. यानी अब आने वाले दिनों में वो कांग्रेस देखने को मिलेगी, जिसका वादा और दावा राहुल अरसे से करते रहे हैं.


अधिक देश की खबरें