RSS विचारक राकेश सिन्हा को हिरासत में लेने वाला SHO सस्पेंड
राकेश सिन्हा ने पुलिस वालों से यह अपील की है कि वे आम आदमी के मूल अधिकारों और उसकी मर्यादा का भी खयाल रखें.


नोएडा : दलित चिंतक समझकर राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ (RSS) के विचारक राकेश सिन्हा को हिरासत में लेने वाले पुलिस अधिकारी को सस्पेंड कर दिया गया है. राकेश सिन्हा की ओर से शिकायत दर्ज कराने के बाद गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी अजयपाल शर्मा ने एसएचओ अनिल कुमार शाही को सस्पेंड कर दिया है. सोमवार को दलितों की ओर किए गए भारत बंद के दौरार राकेश सिन्हा नोएडा के सेक्टर 16 'ए' स्थित फिल्म सिटी में एक टीवी चैनल में जा रहे थे, तभी उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया था.

राकेश सिन्हा ने ट्वीट कर बताया था कि एसएचओ अनिल कुमार शाही के नेतृत्व में नोएडा पुलिस उन्हें जबरन पुलिस गाड़ी में बैठाकर ले गई. उन्होंने आरोप लगाया था कि पुलिस वालों ने उन्हें धमकाया भी था. ट्वीट में उन्होंने ये भी बताया है कि पुलिस उन्हें दलित एक्टिविस्ट समझ बैठे थे. हालांकि लोगों की भीड़ जुटने के बाद पुलिस ने राकेश सिन्हा को छोड़ दिया था.


टीवी चैनलों पर RSS का पक्ष रखते हैं राकेश सिन्हा
राकेश सिन्हा विभिन्न टीवी चैनलों पर होने वाले बहस में पैनलिस्ट की भूमिका में नजर आते हैं. इसके अलावा वे आरएसएस के संस्थापक डॉ. हेडगेवार की बायोग्राफी लिख चुके हैं। इस संबंध में थाना सेक्टर-20 के निलंबित थानेदार अनिल शाही का कहना है कि उन्हें लाल स्विफ्ट डिजायर कार में एक अपराधी के आने की सूचना मिली थी। भूल वश उन्होंने राकेश सिन्हा को हिरासत में ले लिया था. राकेश सिन्हा ने पुलिस वालों से यह अपील की है कि वे आम आदमी के मूल अधिकारों और उसकी मर्यादा का भी खयाल रखें.


अधिक राज्य की खबरें