विकास में जीरो पर, अपराध के मामलों में 'फर्स्ट डिवीज़न' पास योगी सरकार : किरणमय नंदा
sp-leaders-press-confrence


लखनऊ, उन्नाव रेप काण्ड में योगी सरकार दवारा अपने आरोपी विधायक को बचने की कोशिश के बीच सपा के राष्ट्रीय उपध्यक्ष किरणमय नंदा ने आज बीजेपी सरकार पर बड़ा हमला बोला है. योगी सरकार के एक साल के कार्यकाल को अपराध के मामले में नंबर 1 का दर्जा देते हुए नंदा कहा कि विकास के नाम पर ये सरकार अपने एक साल के कार्यकाल में जीरो रही है पर अपराध के मामलों में योगी सरकार फर्स्ट डिविजन से पास हुई है. नंदा आज उन्नाव रेप काण्ड पर पार्टी कार्यालय में प्रेस का संबोधित कर रहे थे. 

मीडिया से बात करते हुए नंदा ने कहा कि उन्नाव रेप काण्ड में सरकार दवारा अपने आरोपी विधायक को बचाने की कोशिश महिलाओं के प्रति अपराध पर भाजपा सरकार के दोहरे चरित्र को उजागर करती है.  नंदा ने कहा कि सरकार जान-बूझकर इस मामले को दबाना चाहती थी क्योकि इस पूरे मामला उसका विधायक आरोपी है. आरोपी विधायक की गिरफ्तारी न होने पर हैरत जताते हुए नंदा ने कहा कि आरोपी विधायक के खिलाफ जब गैर जमानती धाराओं में मामला दर्ज किया गया है तो फिर वो खुला कैसे घूम रहा है. नंदा ने कहा कि सरकार तो अपनी आरोपी विधायक को बचा ही ले जाती पर मीडिया और हाई कोर्ट की सक्रियता ने ऐसा करने नहीं दिया जिसकी मैं सरहना करता हूँ. मीडिया और हाईकोर्ट के सक्रियता के करण ही ये मामला अब सीबीआई के पास गया है. और सीबीआई आरोपी विधयक को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है  

इस मौके पर मौजूद पार्टी के राष्ट्रीय सचिव व प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि सपा सरकार के कार्यकला में बात बात पर चिट्ठी भेजने वाले यूपी के राज्यपाल राम नाइक अब बीजेपी की योगी सरकार में बिलकुल खामोश है जबकि महिलाओं के प्रति अपराध की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही. पर अपराध बढ़ता ये आकड़ा महामहिम को नहीं दिख रहा है. उन्नाव रेप काण्ड को वीभत्स बताते हुए कहा कि इतने संगीन मामले में भी राजभवन खामोश है. उन्होंने कहा कि “ऐसे हालात में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी को इस्तीफ़ा दे देना चाहिये” . उन्नाव पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए चौधरी ने कहा कि मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध पाई गई है, पुलिस की मिलीभगत से इस केस में हालात बद से बदतर हुए. 

पीड़ित परिवार को 50 लाख का मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग
समाजवादी पार्टी ने यूपी सरकार से मांग की है कि पीड़िता के परिवार को 50 लाख का मुआवजा दिया जाए और उसके साथ ही परिवार के सदस्यों को नौकरी, आवास के साथ-साथ परिवार को सुरक्षा भी दी जाए. इस मौके पर सपा ने उन्नाव रेप मामले में पार्टी दवारा गठित जांच दल की रिपोर्ट भी मीडिया के सामने रखी. 


अधिक राज्य की खबरें