झुग्गी-बस्तियों की मांग- टॉइलट बनवाइए वोट ले जाइए
कर्नाटक विधानसभाचुनाव में बहुत सारी बयानबाजी और तमाम मुद्दों पर बहस जारी है।


बेंगलुरु : कर्नाटक विधानसभाचुनाव में बहुत सारी बयानबाजी और तमाम मुद्दों पर बहस जारी है। हालांकि, सीवी रमन नगर विधानसभा सीट के डोडीगुंटा स्थित पोल्लुरम्मा की गंदी बस्तियों में अभी भी मुख्य मुद्दा टॉइलट की समस्या है। यहां के लगभग 4000 लोग इस समस्या से रोज ही दो-चार होते हैं। अव्यवस्था का आलम यह है कि यहां मात्र चार पब्लिक टॉइलट हैं, जो बेहद खराब हालत में हैं।

बताया गया कि 358 घरों के लोगों को साल 2012 से इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि उसके बाद से इन टॉइलट्स की ना तो मरम्मत हुई है और ना ही इनकी देखरेख सही तरीके से की जा रही है। बीबीएमपी वॉर्ड संख्या-79 के निवासियों को कहना है कि उनके चुनाव में सबसे मुद्दा यही समस्या है। स्थानीय निवासी एन. आनंद कहते हैं, 'हमारी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। इस बार हम उसे ही वोट देंगे, जो हमें इस समस्या से निजात दिलाएगा।' 

महिलाओं के टॉइलट्स पर दरवाजे के नाम पर कपड़ा 
एक और निवासी का कहना है, 'यहां के टॉइलट्स के कमोड टूटे हुए हैं, दरवाजे गायब हो गए हैं। इसके अलावा नाली का पानी भी टॉइलट में भरा रहता है और इनका इस्तेमाल करने में भी मुश्किल होती है। महिलाओं को तो और भी दिक्कतें आती हैं। महिलाओं के टॉइलट के दरवाजे के नाम पर एक कपड़ा लटकाया गया है।' 

वोट मांगने भी नहीं आ रहे बड़ी पार्टियों के नेता 
स्थानीय लोगों को कहना है कि ये टॉइलट्स एक बार सुबह और एक बार शाम को खुलते हैं, ऐसे में लोगों की अच्छी-खासी भीड़ यहां इकट्ठा हो जाती है और कई बार तो झगड़े की भी नौबत आ जाती है। यहां के विधायक और पार्षद दोनों बीजेपी से हैं लेकिन इस समस्या का अभी तक कोई हल नहीं निकाला जा सका है। 

बताया गया कि वोट मांगने के लिए भी विधायक और पार्षद नहीं बल्कि उनके लोग आए थे। इस बात को लेकर भी लोगों में काफी गुस्सा है। इस बार भी किसी बड़ी पार्टी के उम्मीदवार यहां वोट मांगने नहीं आ रहे हैं, सिर्फ क्षेत्रीय पार्टियों के लोग और निर्दलीय उम्मीदवार ही इलाके में दिखते हैं।


अधिक देश की खबरें