योगगुरु बाबा रामदेव का बयान, 'जो कर्नाटक चुनाव जीतेगा, वही देश जीतेगा'
File Photo


वाराणसी : योगगुरु बाबा रामदेव ने मंगलवार (15 मई) को आ रहे कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजों पर बयान देते हुए कहा 'जो कर्नाटक चुनाव जीतेगा, वहीं देश जीतेगा'. सोमवार (14 मई) को प्रधानमंत्री नरेेंद्र मोदी के संंसदीय क्षेेत्र वाराणसी पहुंचे बाबा रामदेव ने यह टिप्‍पणी की. जब बाबा रामदेव से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीब चार साल के कार्यकाल पर नंबर देने को कहा गया तो उन्‍होंने कहा कि यह बहुत ही कठिन सवाल है और कुछ पूछिये तो मैं बताउंगा.

सोमवार को एक निजी कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाराणसी पहुंचे बाबा रामदेव ने कहा कि मोदी जी से किसानों, जवानों, व्यापारियों और अधिकारियों की पहाड़ जैसी उम्मीदें हैं. सबसे ज्यादा विकास की योजनाएं बनाई गईं और उनको धरातल पर लाने का प्रयास भी हुआ है. रामदेव ने कहा कि पीएम मोदी की नीयत में देश को विश्वास है. उम्मीदें पहाड़ जैसी हैं और योजनाओं को धरातल पर लाने के लिए उनका मंत्रिमंडल पूरी कोशिश कर रहा है.

बातचीत के दौरान रामदेव ने केंद्र सरकार के कई मंत्रियों की जमकर तारीफ भी की. उन्‍होंने कहा कि कुछ मंत्रियों के काम लाजवाब हैं. गडकरी और पीयूष गोयल जैसे कुछ मंत्री हैं ऐसे हैं जो रात दिन पुरुषार्थ कर रहे हैं. जेटली जैसे विजन का मंत्री सरकार में दूसरा नहीं है. बाबा रामदेव ने कहा कि जेटली जी का सफल ऑपरेशन हुआ है और मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि वह जल्द से जल्द स्वस्थ हो जाएं. हालांकि जब रामदेव से गंगा के हालात पर सवाल किया गया तो उन्होंने जवाब दिया कि गाय और गंगा के ऊपर सरकार को और ज्यादा गतिपूर्वक काम करना चाहिए. जितना परिणाम अपेक्षित है उतना परिणाम नहीं मिल पाया है.

बाबा रामदेव ने जिन्ना विवाद पर कहा कि इस देश की एकता, अखंडता और संप्रभुता के लिए जिसने खतरा पैदा किया, जिसने देश को बांटने के लिए काम किया वो देश के लिए आदर्श नहीं हो सकता. जिन्ना को आदर्श के रूप में पाकिस्तान के लोग मानें ये उनका मामला है. लेकिन भारत में यह कतई स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए. योगगुरु ने राजनेताओं के विवादित बयानों पर कहा कि नेताओं की भाषा का स्तर अत्यंत ओछे स्तर पर आ गया है. रामदेव ने कर्नाटक के नतीजों के मामले में कहा कि कर्नाटक चुनाव भारतीय राजनीति में महत्वपूर्ण मोड़ लाएगा जो कर्नाटक जीतेगा वो देश जीतने का दमखम भी रखेगा. बाबा रामदेव ने कहा कि बंगाल और केरल दोनों जगह राजनीतिक हिंसा लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा हैं. ये देश की आजादी के लिए अपमान जैसा है. राजनीति एक युद्ध की तरह है जहां पहले तलवारों से युद्ध करते थे अब विचारों की लड़ाई है. कभी-कभी विचार तलवार से ज्यादा खतरनाक हो जाते हैं.


अधिक राज्य की खबरें