कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया से मिले एचडी कुमारस्वामी
कुमारस्वामी ने सोनिया-राहुल को दिया शपथ ग्रहण में शामिल होने का न्योता


नई दिल्ली : कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने से पहले जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार शाम को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात की। इस दौरान राज्य में गठबंधन सरकार बनाने को लेकर चर्चा हुई। 20 मिनट की मुलाकात के बाद कुमारस्वामी ने पत्रकारों को बताया कि यहां कोई सौदेबाजी नहीं है। हम मिलकर काम करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस-जेडीएस कर्नाटक में एक स्थिर सरकार बनाएंगे। 

कुछ रिपोर्टों में कहा जा रहा था कि 30 महीने तक कुमारस्वामी और अगले 30 महीने तक कांग्रेस के नेता मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठेंगे। कुमारस्वामी ने एक बार फिर साफ कर दिया है कि कांग्रेस और जेडीएस के बीच CM पद साझा करने को लेकर कोई डील नहीं हुई है। 

कांग्रेस के नेताओं से मुलाकात के बाद कुमारस्वामी ने कहा, 'मैं गांधी परिवार के प्रति सम्मान जताना चाहता था इसीलिए मैं यहां (दिल्ली) आया हूं। मैंने उनसे शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का अनुरोध किया है।' उन्होंने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी दोनों ने कहा है कि वे समारोह में पहुंचेंगे। 



कुमारस्वामी ने पहले कहा था कि दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा के बाद कांग्रेस और जेडीएस की ओर से मंत्री बनाने को लेकर फैसला लिया जाएगा। सोमवार को उन्होंने कहा कि कर्नाटक के डेप्युटी चीफ मिनिस्टर पर मंगलवार को फैसला लिया जाएगा। इस बारे में घोषणा भी उसी समय कर दी जाएगी। 

डेप्युटी सीएम कौन होगा? इस सवाल पर कुमारस्वामी ने विस्तार से बताया, 'राहुल गांधी ने कर्नाटक के महासचिव केसी वेणुगोपाल को यह अधिकार दिया है कि वह इन मसलों पर चर्चा कर अंतिम फैसला लें। स्थानीय नेता और वह कल बैठकर इस पर फैसला लेंगे।' 

सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के दौरान जेडीएस नेता दानिश अली और कांग्रेस के केसी वेणुगोपाल भी मौजूद थे। इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं अशोक गहलोत, केसी वेणुगोपाल और गुलाम नबी आजाद ने कर्नाटक के मौजूदा राजनीतिक घटनाक्रम पर राहुल गांधी को जानकारी दी थी। आजाद ने बताया था कि राहुल गांधी और कुमारस्वामी की मुलाकात के दौरान आगे की रणनीति तैयार होगी। 

कांग्रेस के नेताओं से मुलाकात करने से पहले कुमारस्वामी ने बीएसपी सुप्रीमो मायावती से भी मुलाकात की। आपको बता दें कि जेडीएस और बीएसपी में चुनाव से पहले गठबंधन हुआ था। इस बीच खबर है कि लिंगायत समुदाय की ओर से दबाव बनाया जा रहा है कि डेप्युटी सीएम का पद उनके समुदाय के नेता को दिया जाए। टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के मुताबिक जी परमेश्वर डेप्युटी सीएम पद की दौड़ में सबसे आगे हैं। 


अधिक देश की खबरें

CBI रिश्वत केस: दिल्ली हाईकोर्ट से राकेश अस्थाना को बड़ी राहत, अगली सुनवाई तक गिरफ्तारी पर लगी रोक..

नई दिल्ली। सीबीआई रिश्वत मामले में सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर राकेश अस्थाना को दिल्ली हाईकोर्ट से बड़ी ... ...