दिल्ली-NCR में 10 माओवादी गिरफ्तार
रात भर तक चले लंबे छापे में दिल्ली के बाहरी इलाके स्थित नोएडा से नौ नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया।


नोएडा (उत्तरप्रदेश) : राष्ट्रीय राजधानी और उसके पड़ोस में बड़े नक्सली हमले की साजिश को नाकाम करते हुए उत्तरप्रदेश पुलिस ने रविवार को एक स्वयंभू एरिया कमांडर सहित 10 माओवादियों के एक गुट को गिरफ्तार किया और हथियार तथा कारतूस का बड़ा जखीरा बरामद किया।

आईजी (उप्र विशेष कार्यबल) असीम अरुण ने जल्दबाजी में बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में बताया गया कि चरमपंथी वामपंथी बम बना रहे थे और दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में कुछ घटनाओं को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे।

रात भर तक चले लंबे छापे में दिल्ली के बाहरी इलाके स्थित नोएडा से नौ नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया। नौ में से छह को शनिवार रात पकड़ा गया और तीन को रविवार सुबह पकड़ा गया। एक को बिहार से लगे चंदौली से गिरफ्तार किया गया।

उन्होंने बताया कि झारखंड के लातेहार जिले में बरियातू गांव का रहने वाला स्वयंभू कमांडर प्रदीप सिंह खरवार फरवरी 2012 से नोएडा में छिपा हुआ था और उसपर पांच लाख रुपये का इनाम घोषित था। उन्होंने बताया कि पूर्व के पीपुल्स वार ग्रुप का स्वयंभू एरिया कमांडर एक अन्य इनामी नक्सली रंजीत पासवान बिहार के नक्सल प्रभावित सासाराम में सक्रिय था। उसे बिहार से लगे चंदौली से गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार किये गए अन्य नक्सलियों में बिहार में मधुबनी का पवन झारखंड, ग्रेटर नोएडा में दनकौर का सचिन कुमार, बिहार में सासाराम का कृष्ण कुमार राम और उत्तरप्रदेश में बुलंदशहर का निवासी सूरज है। सूरज दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में अभियान को अंजाम देने के लिए गुट का स्थानीय संपर्क था। एसटीएफ अधिकारी ने कहा कि गुप्त सूचना के आधार पर यहां सेक्टर 49 हिंडन विहार में एक अपार्टमेंट में छापा मारा गया।

550 कारतूस, इंसास एसाल्ट राइफल, दो अन्य राइफल और तीन सेल्फ लोडिंग राइफल मैगजीन के साथ ही विस्फोटकों और डेटोनेटरों का बड़ा जखीरा बरामद किया। उन्होंने कहा कि संदेह है कि इंसास राइफल सुरक्षाकर्मी से लूटी गयी थी क्योंकि इन हथियारों का इस्तेमाल माओवादियों के खिलाफ अभियान में होता है।

गिरफ्तार किये गए नक्सली पूर्वी उत्तरप्रदेश और बिहार के पास के इलाके में सक्रिय थे और नोएडा को उन्होंने अपना ठिकाना बनाया था। उन्होंने दो फ्लैट किराये पर लिये और खुद को प्रोपर्टी डीलर के तौर पर पेश किया। आईजी ने कहा कि वामपंथी अतिवादियों के खिलाफ कारवाई जारी रहेगी तथा और गिरफ्तारियां होने की संभावना है।


अधिक राज्य की खबरें