तमिलनाडु में तूतीकोरिन में मारे गए लोगों के परिवार से मिलने जाएंगे राहुल गांधी
राहुल गांधी ने इस घटना के संबंध में एक ट्वीट में कहा, अन्याय के खिलाफ आवाज उठा रहे लोगों की हत्या की गई है।


नई दिल्ली :  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तमिलनाडु में स्टरलाइट संयंत्र के खिलाफ आंदोलनरत प्रदर्शनकारियों पर पुलिस फायरिंग में मारे गए 13 लोगों के परिजनों से मिलने तूतीकोरिन जा सकते हैं। इससे पहले राहुल ने इसे ‘राज्य प्रायोजित आतंकवाद’ का नृशंस उदाहरण बताया था।

सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी वहां जाकर लोगों से मुलाकात करना चाहते हैं, जो फिलहाल कि इस माहौल में संभव नहीं है क्योंकि स्टरलाइट फैक्ट्री के आसपास के इलाके में धारा 144 लागू है। बुधवार को भी स्टरलाइट प्लांट के खिलाफ आक्रोशित लोगों ने हिंसा की और कई पुलिस वाहनों को आग लगा दी। इस वजह से पार्टी अभी तूतीकोरिन में हालात सामान्य होने का इंतजार कर रही है। राहुल गांधी के दौरे का कार्यक्रम शुक्रवार तक तय हो सकता है। 

इससे पहले राहुल गांधी ने मंगलवार को इन घटनाओं पर सवाल उठाते हुए तमिलनाडु में स्टरलाइट संयंत्र के खिलाफ आंदोलनरत प्रदर्शनकारियों पर पुलिस फायरिंग में उस समय तक 9 (अब 13) लोगों के मारे जाने को ‘राज्य प्रायोजित आतंकवाद’ का नृशंस उदाहरण बताया था। राहुल गांधी ने इस घटना के संबंध में एक ट्वीट में कहा, ‘अन्याय के खिलाफ आवाज उठा रहे लोगों की हत्या की गई है।’ 

उल्लेखनीय है कि तमिलनाडु के तूतीकोरिन में वेदांता लिमिटेड कंपनी के स्टरलाइट तांबा संयंत्र के खिलाफ स्थानीय लोग आंदोलनरत हैं। मंगलवार को ये आंदोलनकारी उग्र हो गए। इसके बाद पुलिस ने उन्हें नियंत्रत करने के लिए पहले आंसू गैस के गोले छोड़े। इसके बाद भी भीड़ के नियंत्रण में न आने पर गोली चलाई गई, जिसमें 9 प्रदर्शनकारी मारे गए और 30 घायल हो गए थे। इसमें से चार और लोगों ने दम तोड़ दिया।


अधिक देश की खबरें