मसल्स बनाने वाले इन फूड को न करें नजरअंदाज
अच्छी बॉडी और मसल्स के लिए अच्छी डायट बहुत जरूरी


अच्छी बॉडी और मसल्स बनाने की इच्छी हर लड़के की होती है। इसके लिए लड़के घंटो जिम में वर्कआउट करते हैं लेकिन कुछ लोगों को इतना सब करने के बाद भी कोई खास फायदा नही होता। यह जरूरी नही की सिर्फ जिम जाकर ही आप स्ट्रॉग बॉडी पा सकते हैं। इसके लिए अच्छी डायट होना भी बहुत जरूरी है। कुछ ऐसे आहार भी हैं जो मसल्स तो मजबूत करते ही हैं साथ ही साथ यह सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद हैं लेकिन लोग आजकल इन आहारों से ही दूरी बना रहे हैं। आइए जानते हैं कौन से हैं ये फूड...

1. फुल क्रीम दूध
गाय का बिना मिलावट वाला दूध मतलब फुल फैट मिल्क। प्रोटीन, कैल्शियम और राइबोफ्लेविन, विटामिन ए, डी, के और ई के साथ फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयोडीन,  खनिज और वसा व ऊर्जा जो की अच्छी सेहत के लिए बहुत जरूरी है। यह सब गाय के बिना मिलावट वाले दूध में मिलता हैं जबकि टोण्ड मिल्क में यह पदार्थ आधे से भी कम होते हैं। गाय का बिना मिलावट वाला दूध मतलब फुल फैट मिल्क 

2.चावल
आजकल लोग अपने लाइफस्टाइल को बदल रहे हैं और सफेद चावल की जगह पर ब्राउन चावल खा रहे हैं जबकि सफेद चावल जल्दी पचते हैं और बॉडी में ग्लूकोज लेवल को भी मेंटेन रखते हैं। ब्राउन राइस के मुकाबले इनमें कैलोरी,कार्बोहाइड्रेट,प्रोटीन और आयरन भरपूर होते हैं। 

3.आलू
कुछ लोग यह कहते हैं की आलू खाने से मोटापा आता हैं और अगर पतला होना चाहते हैं तो आलू खाना छोड़ दें लेकिन क्या आप जानते हैं कि आलू में कार्बोहाइड्रेट्स के साथ आयरन, मैग्नीशियम, पोटैशियम, विटामिन और मिनरल्स भी होते हैं। यह स्टेमिना बढ़ाने में मददगार है और अगर सूजन की शिकायत हो तो 3-4 आलू भूनकर खाने से आराम मिलता है। आलू हाई बी पी को भी कंट्रोल रखता है। 

5. केला
केले में सिर्फ कार्बोहाइड्रेट ही नही होता बल्कि इसमें थायमिन,विटामिन ए,विटामिन बी, रिबोफ्लेविन और नियासिन जैसे जरूरी पोषक तत्व भी होते हैं। आप इसके गुणों को देखते हुए इसे नजरअंदाज न करें।

4. अंडे का पीला भाग
अंडे के पीले भाग में अंडे का 43: प्रोटीन होता है और इसमें फैटी एसिड्स और लिपोप्रोटीन कैलेस्ट्रॉल होते हैं जो बॉडी के लिए अच्छे कोलेस्ट्रॉल होते हैं। जो लोग यह मानते हैं कि अंड़े का पीला भाग सेहत के लिए अच्छा नही हैं तो वो इसके बकी गुणों की और भी जरूर ध्यान दे कि वह इसे न खाकर कितने पोषक त्तव छोड़ रहे हैं।


अधिक सेहत/एजुकेशन की खबरें