SSP कलानिधि नैथानी ने तेज तर्रार इंस्पेक्टर फरीद अहमद को बनाया एंटी डकैती सेल का प्रभारी
File Photo


लखनऊएसएसपी लखनऊ कलानिधि नैथानी ने राजधानी लखनऊ में बढ़ती डकैती की वारदातों और पूर्व में हुई वारदातों के खुलासे के लिए एक एंटी डकैती सेल का गठन किया है. एसएसपी ने इस एंटी डकैती सेल की जिम्मेदारी साफ सुथरी छवि के तेज तर्रार इंस्पेक्टर फरीद अहमद को सौंपी है. एंटी डकैती सेल के प्रभारी फरीद अहमद की टीम में 6 सिपाही भी नियुक्त किए गए हैं. एंटी डकैती टीम के सदस्य सादी वेशभूषा में रहेंगे और अपराधियों की धरपकड़ करेंगे.

फरीद अहमद ने बताया कि एंटी डकैती सेल एक स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप है. जिसमें मेरे साथ 6 सिपाही है. मेरी टीम लखनऊ में पूर्व में पड़ी डकैती की घटनाओं के जो अपराधी प्रकाश में हैं वो इस वक्त कहां है. जेल में हैं या फिर फरार चल रहे हैं. लखनऊ के बाहरी इलाकों में जहां बावरिया गिरोह या अन्य डकैतों के छिपने की संभावना ज्यादा रहती ही, उन्हें चिन्हित कर मुखबिरों की सहायता से अपराधियों की धरपकड़ और डकैती की वारदातों पर अंकुश लगाना है.

फरीद अहमद ने यह भी बताया कि टीम उन लोगों की भी शिनाख्त करेगी जो किराए पर रहे हैं. मसलन बंगलादेशी जो शहर के बाहर रह रहे हैं. टीम यह पता लगाएगी कि जो बांग्लादेश रह रहे हैं वह क्रिमिनल्स तो नहीं है.

एंटी डकैती सेल के प्रभारी बनने से पहले फरीद अहमद बनारस और भदोही में एसओजी प्रभारी और कई महत्वपूर्ण थानों के प्रभारी रहे चुके हैं. ये अपराधियों के बारे में अच्छी जानकारी और सूचनाएं रखते हैं. पूर्वांचल की कई अनसुलझी घटनाओं को भी इन्होंने सुलझाया है और अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजा है. लखनऊ आगमन से पहले फरीद अहमद बनारस में कैंट थाने के प्रभारी थे.


अधिक राज्य की खबरें