मरियम ने जेल में बेहतर सुविधाएं लेने से किया इनकार, पर नवाज़ को और ज्यादा की आस
File Photo


इस्लामाबाद, भ्रष्टाचार के मामले में सात साल की सज़ा पाई पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरियम नवाज़ ने अदियाला में बेहतर सुविधाएं लेने से इनकार कर दिया.

मरियम की तरफ से जारी बयान में कहा गया, 'जेल अधीक्षक ने नियमों के मुताबिक मुझे बेहतर क्लास और सुविधाओं के लिए आवेदन देने को कहा था, जिसे मैंने ठुकरा दिया.' मरियम ने इस बयान में बताया कि यह पूरी तरह मेरा खुद का फैसला था, जो बिना किसी दवाब के लिया गया.

इससे पहले यह खबर आई थी कि अधिकारियों ने नवाज शरीफ और उनकी बेटी के सोशल स्टेटस को देखते हुए जेल में उन्हें 'बी' क्लास की सुविधाएं देने का फैसला किया है.

The International News के मुताबिक, बी क्लास के तहत कैदियों को जेल में एक अलग किचन दिया जाता है, जहां वे इलेक्ट्रिक हीटर पर अपना खाना बना सकते हैं. कैदियों को यहां जानमाज (नमाज़ पढ़ने के लिए चटाई), दवाई, सेविंग क्रीम, कपड़े, चार तौलिये और खाने-पीने के दूसरे सामान मुहैया कराए जाते हैं. इस रिपोर्ट के मुताबिक, जेल अधिकारियों ने नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम को दो जोड़ी कपड़े दिए हैं.

इसके साथ ही इस रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया कि नवाज शरीफ ने अपने सेल के वॉशरूम में सफाई की कमी और सेल में बस एक चटाई और पंखा लगे होने को लेकर शिकायत भी की.

नवाज शरीफ ने शनिवार को अपनी लीगल टीम से पांच मिनट तक मुलाकात की थी. उनकी टीम ने बताया कि अदियाला जेल में शरीफ न कोई बेड, न एसी दी गई है. उन्हें पढ़ने को अखबार भी मुहैया नहीं कराया गया. टीम के मुताबिक, नवाज शरीफ के साथ उनकी मुलाकात के दौरान वरिष्ठ अधिकारी भी वहां मौजूद थे.

बता दें कि पूरा मामला लंदन में पॉश एवेनफील्ड हाउस में चार फ्लैटों के मालिकाना हक से जुड़े भ्रष्टाचार का है. इस मामले में पाकिस्तान की एक अकाउंटबिलिटी कोर्ट ने 6 जुलाई को नवाज शरीफ को 10 साल और उनकी बेटी मरियम को 7 साल की सजा सुनाई थी. इससे पहले नवाज शरीफ को पनामा पेपर्स केस में नाम आने के बाद किसी भी तरह के सार्वजनिक पद के लिए अयोग्य ठहराया जा चुका है.


अधिक विदेश की खबरें