आज संसद में पहली बार होगी मोदी और राहुल की आमने-सामने की टक्कर
File Photo


नई दिल्ली : नरेंद्र मोदी सरकार आज (शुक्रवार को) संसद में अपने पहले अविश्वास प्रस्ताव का सामना करेगी. इसके साथ ही चार साल में पहली बार ऐसी स्थिति आएगी जब इतने महत्वपूर्ण विषय पर लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक ही दिन में एक-दूसरे पर सीधा वार करेंगे. इस तरह से राहुल गांधी की वह चुनौती भी आज पूरी हो जाएगी, जिसमें वे कहते रहे हैं कि प्रधानमंत्री मुझे संसद में 15 मिनट बोलने का मौका दें, तो वे उनकी बोलती बंद कर देंगे. हालांकि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में कांग्रेस को अपनी बात रखने के लिए करीब आधा घंटा और बीजेपी को साढ़े तीन घंटे मिले हैं.

इससे पहले भूमि अधिग्रहण बिल, नोटबंदी, जीएसटी और राष्ट्रपति के अभिभाषणों पर चर्चा में दोनों नेताओं ने एक साथ भाग लिया है, लेकिन हर बार संयोग ऐसा रहा कि जब राहुल बोले तो प्रधानमंत्री उस दिन न बोलकर आगे किसी दिन बोले. हालांकि ऐसे मौके कई बार आए हैं जब एक नेता बोल रहा हो और दूसरा सामने बैठा उनकी बात सुन रहा हो.

इस लोकतांत्रिक जंग में अब तक दोनों ही नेताओं की टीम ने बढ़िया पास बनाए हैं और दोनों ही नेताओं ने सटीक शॉट गोलपोस्ट पर मारे हैं. अगर चार साल के ट्रेक रिकॉर्ड को देखें तो दोनों नेताओं के प्रमुख हमले इस तरह नजर आएंगे....

अप्रैल 2015

सूट बूट की सरकार बनाम सूटकेस की सरकार
संसद के बजट सत्र में प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए राहुल गांधी ने मोदी सरकार को सूट बूट की सरकार बताया. दरअसल, इससे पहले 26 जनवरी को जब अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि बने तो उस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने काफी महंगा सूट पहना था. बाद में वह सूट नीलाम कर उसकी रकम सरकारी खजाने में जमा कर दी गई.

राहुल के इस तंज का जवाब संसद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दिया. उन्होंने कहा कि सूट बूट की सरकार लूट की सरकार से अच्छी है. प्रधानमंत्री ने संसद के बाहर इसका जवाब दिया, सूट बूट की सरकार सूटकेस की सरकार से अच्छी है.


अधिक देश की खबरें