गाय बचाओ का नारा लगाने वाले, लिंचिंग को गलत कहने की हिम्मत क्यों नहीं कर पाते: कंगना रनौत
टैग: #kanganaranaut
गाय बचाओ का नारा लगाने वाले, लिंचिंग को गलत कहने की हिम्मत क्यों नहीं कर पाते: कंगना रनौत
File Photo


नई दिल्ली: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत अपने बेबाक अंदाज के लिए जानी जाती हैं. कंगना ने बुधवार रात 'इन कन्वरसेशन विद द मिस्टिक 2018' सत्र के दौरान सद्गुरू जग्गी वासुदेव के सामने कई गंभीर मुद्दों पर बात की. इस दौरान कंगना ने साफ बात दिया कि उनका राजनीति में शामिल होने का कोई इरादा नहीं है. वहीं देश में बढ़ रही लिंचिंग की घटनाओं पर भी कंगना ने सवाल खड़े करते हुए कहा कि हम गायों को बचाने का संदेश दे रहे हैं लेकिन जब लिंचिंग की घटनाएं होती हैं तो हम उसे गलत कह पाने की हिम्मत नहीं जुटा पाते. सिर्फ दुख जता देने से क्या जो हुआ उसे बदला जा सकता है. 

कंगना ने बताया कि उनकी फिल्म 'मणिकर्णिका द क्वीन ऑफ झांसी' शूटिंग के दौरान मुझे एक गाय के बछड़े को बचाने का सीन शूट करना था लेकिन बाद में मेरी टीम ने फैसला किया कि हम ऐसा नहीं करेंगे. टीम का मानना था कि हम फिल्म में गाय को बचाने वालों जैसा नहीं दिखना चाहते. कंगना आगे कहती हैं कि मैं सच में गायों को बचाने के लिए कुछ करना चाहती हूं लेकिन जब मैं देखती हूं कि गाय बचाने के नाम पर लोग खून कर रहे हैं तो मुझे ये बेवकूफी लगती हैं. 

करियर नहीं है राजनीति 
राजनीति पर बोले हुए कंगना ने कहा कि मुझे लगता है कि राजनीति को करियर के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए. अगर मेरे जैसा कोई व्यक्ति राजनीति में शामिल होना चाहता है तो सबसे पहले उसे भौतिक संसार के सभी पीड़ाओं और सुखों को त्यागना होगा और तपस्वी या बैरागी बनना होगा. कंगना ने आगे कहा कि अगर आप लोगों की सेवा करना चाहते हैं तो आपको अपने परिवार और अपने जीवन की अन्य चीजों को छोड़ना होगा. केवल तभी मैं देश की सेवा करने में सक्षम हो पाऊंगी और यही इरादा होना चाहिए. 

बॉलीवुड एक्टर्स की लगाई क्लास 
कंगना ने कहा कि अभी मेरा करियर बहुत ही सफल है.  इसलिए मैं किसी और क्षेत्र में अपना करियर नहीं बनाना चाहती हूं. अगर लोग राजनीति में जाना चाहते हैं तो उन्हें ऐसा करना चाहिए लेकिन इसके लिए पहले बैराग्य अपनाना चाहिए. कंगना ने सामाजिक मुद्दों पर स्टैंड नहीं लेने वाले अपने बॉलीवुड को-एक्टर्स को भी खरी-खरी सुनाई. कंगना ने कहा कि मुझे लगता है कि हमें अपने देश की वर्तमान स्थितियों के बारे में बात करनी चाहिए और हमें इस बारे में सोचना चाहिए कि हम इस देश को कैसे एकजुट कर सकते हैं. मेरे ज्यादातर साथ वाले लोग  इस बारे में बात नहीं करते हैं. 

सफल आदमी की बात का असर होता है 
कंगना ने एक घटना का जिक्र करते हुए कहा कि बहुत पहले की बात नहीं है जब एक सेलिब्रिटी ने कहा था कि हमें पानी और बिजली की समस्या नहीं है तो हम इस बारे में क्यूं बात करें. यह तकलीफ देने वाला था. आप इस तरह बात नहीं कर सकते हैं. कोई भी इंसान इस तरह नहीं बोल सकता. आप इस देश का हिस्सा हैं और यह केवल आपके बारे में नहीं है. कंगना का कहना है कि अगर कोई सफल या प्रसिद्ध शख्स जिसके पीछे 25 कैमरे लग जाते हैं, वह सामाजिक मुद्दों पर बात करता है तो उसकी बात का असर अधिक होता है. 


अधिक मनोरंजन की खबरें