हम पडोसियों से संबंध सुधारना चाहते हैं : Pak PM इमरान खान
हम पडोसियों से संबंध सुधारना चाहते हैं : Pak PM इमरान खान


इस्लामाबाद। पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने पहली बार अपने देशवासियों को संबोधित किया। इमरान ने अपने पहले ही भाषण में आतंकवाद पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि आतंकवाद से लडऩे के लिए हम नेशनल एक्शन प्लान में संशोधन कर उसे और सशक्त बनाएंगे। उन्होंने कहा कि ‘विदेश नीति पर कहना चाहते हैं कि हम सभी पड़ोसी देशों के साथ संबंध सुधारना चाहते हैं। जरूरत शांति की है, इसके बिना हम पाकिस्तान की स्थिति नहीं सुधार सकते।’ 

सीमा पर पाकिस्तानी रेंजर्स की फायरिंग और आतंकवादी घटना को अंजाम देने और आतंकवादियों को शरण देने जैसे मसलों की वजह से भारत और पाकिस्तान के रिश्ते काफी तल्खी भरे रहे हैं। पूर्ववर्ती पीएमएल (एन) की सरकार में ये तल्खी और बढ़ी। 

पाकिस्तान लगातार चीन के साथ रहा। हालांकि इमरान खान के प्रधानमंत्री बनने के बाद अब भारत के प्रति उनके रुख का इंतजार है। इसके अलावा उन्होंने अपने इस भाषण के दौरान अपनी पूर्ववर्ती पीएमएल-एन सरकार पर जमकर हमला बोला। पाक के नए पीएम इमरान ने कहा कि ‘पाकिस्तान के इतिहास में हमने इस तरह की मुश्किल परिस्थितियों का सामना कभी नहीं किया। हमारा कर्ज का बोझ 28 हजार अरब रुपए है। अपने समूचे इतिहास में हम इतने ऋणग्रस्त कभी नहीं रहे, जितना पिछले 10 वर्षों में हो गए हैं।’


इमरान ने कहा कि देश के सामने आर्थिक के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी कई चुनौतियां है। इमरान ने अपनी सरकार का खाका पेश करते हुए कहा कि वो न्यायपालिका, शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल, सिविल सेवा में सुधार, सत्ता का हस्तांतरण और युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने की दिशा में हरसंभव कदम उठाएंगे। 

उन्होंने पाकिस्तानी जनता से आग्रह करते हुए कहा कि वो गरीबी उन्मूलन, स्वास्थ्य देखभाल सुविधा में सुधार तथा बच्चों को उचित पोषाहार प्रदान करने में उनका साथ दें।


अधिक विदेश की खबरें