पूर्व मंत्री योगेश प्रताप सिंह के घर पहुंचें अखिलेश, जताई शोक सवेदना
श्रद्धांजलि अर्पित करते सपा मुखिया अखिलेश यादव


लखनऊ, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आज पूर्व मंत्री व करनैलगंज के पूर्व विधायक योगेश प्रताप सिंह के भभुआ स्थित आवास पर जाकर सड़क में एक्सीडेंट में मारे गए उनके भाई और बहनोई की मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त की.  इससे पूर्व लखनऊ से निलकते ही अखिलेश का कई जगह स्वागत हुआ जिसमे रामनगर, मसौली, मुबारकपुर,  जरवल रोड, करनैलगंज प्रमुख स्थान रहा. 

इस दौरान अखिलेश ने प्रदेश के बिगड़ते हालात, बाढ़ से तबाही और लोगों की बढ़ती परेशानियों के प्रति चिंता जताते हुए इस बात पर क्षोभ जताया है कि भाजपा सरकार को गांव-किसान-नौजवान की जिंदगियों की बेहतरी की चिंता नहीं, उन्हें तो समाजवादी पार्टी की ही चिंता सताती रहती है। बाढ़ में गांवों की दशा और भाजपा की अनदेखी से व्यथित  यादव ने समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया कि बिना सरकारी व्यवस्था के इंतजार के वे बाढ़ पीड़ितों की मदद में जुटें। उनको राहत सामग्री पहुंचाने की व्यवस्था करें तथा दवाइयों का भी इंतजाम करें। 

अखिलेश ने घाघरा नदी के प्रकोप से बुरी तरह से बर्बाद हुई फसलों की स्थिति को भी देखा. अखिलेश ने कहा कि  बाढ़ में फंसे लोगों से सरकार का कुछ लेना देना नहीं है। मुख्यमंत्री जी ने कोई राहत नहीं पहुंचाई। बाढ़ पीड़ितों के घरों में पानी भरा है। झोपड़ियां जलमग्न हैं। सड़कें खराब है। समाजवादी सरकार में आरसीसी की जरवल रोड बनने की शुरूआत हुई थी। चारलेन सड़क बननी थी। आज यह आधी -अधूरी पड़ी है। पूर्व मुख्यमंत्री जी इससे दुःखी हुए। एल्गिन चरसैंडी बांध कटने से सैकड़ों गांवों में जलप्रलय की स्थिति बन गई। फसलें बर्बाद हुई। पशुओं की मौत हो गई। जनधन की भारी क्षति हुई है। पर सरकार बेख़बर है।


अधिक राज्य की खबरें