सपा में है पांच मुख्यमंत्री : स्वामी प्रसाद
भ्रष्टाचार के पैसे को लेकर सपा में घमासान मचा हुआ है।


कानपुर : भ्रष्टाचार के पैसे को लेकर सपा में घमासान मचा हुआ है। पांच मुख्यमंत्री अपने-अपने तरीके से सरकार चला रहे है। अगर एक किसी भ्रष्टाचारी मंत्री को हटाता है तो दूसरा वापस लाने को तैयार है।यह बात स्वामी प्रसाद मौर्य ने कही।इटावा में संकल्प महासभा से वापस आते हुए शहर में भाजपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि सपा की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। सरकार में एक नहीं पांच मुख्यमंत्री है ऐसे में लाचार सीएम अखिलेश भ्रष्टाचारियों पर नियंत्रण नहीं लगा पा रहे हैं। 

उन्होंने बिना किसी मंत्री का नाम लिए कहा कि अगर किसी भ्रष्ट मंत्री को अखिलेश हटाता है तो दूसरा बुजुर्ग मुख्यमंत्री (मुलायम) उसे वापस लाने के लिए वीटो कर देता है। जब उनसे पूछा गया कि सपा परिवार की लड़ाई का फायदा भाजपा किस तरह से देखती है। तो कहा कि यह उनका आन्तरिक मामला है लेकिन यह तय है कि सत्ता के दुरुपयोग से कमाए गए धन के बन्दरबाट, कुर्सी पर झपट्टा मारने के लिए लड़ाई हो रही है। 

मुख्तार अंसारी पर कहा कि यह मुद्दा विहीन पार्टी हो गई है चाहे कोई भी अंसारी आ जाय बेडा पार नहीं हो सकता। आगे कहा कि सपा ने एक भी ऐसा काम नहीं किया जिससे प्रदेश की जनता इन पर विश्वास करे। रही सही कसर बीते एक माह से हुई सियासी उठाफटक ने पूरी कर दी है। आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है। मायावती बचेगीं अकेलेमौर्य ने कहा कि बसपा सुप्रीमों मायावती ने बाबा साहब को बीच चौराहे पर नीलाम कर दिया। कांशीराम के विचारों को थैलीशाहों के हाथों में सौदा कर रही है। यही कारण है कि लोकसभा चुनाव में पार्टी खाता भी नहीं खोल सकी।


अधिक राज्य की खबरें