मिर्जापुर के RSS मंथन शिविर में बन रही है लोकसभा चुनाव की रणनीति, दी जाएगी ट्रेनिंग
File Photo


2019 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में बीजेपी को बड़ी जीत दिलाने के मकसद से आरएसएस कार्यकर्ताओं का तीन दिनी अभ्यास शिविर मिर्जापुर जिले में 28 से 30 सितंबर के बीच आयोजित कर रहा है. शनिवार को इसका दूसरा दिन है. प्रयाग और काशी क्षेत्र के सैकड़ों स्वयंसेवक इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए मिर्जापुर पहुंच चुके हैं या फिर पहुंच रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक अभ्यास वर्ग के दौरान 2019 की राह आसान बनाने के लिए खास तौर पर रणनीति तैयार की जाएगी. बताया जा रहा है कि इस तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में प्रांत और क्षेत्रीय प्रचारकों के साथ ही नागपुर के पदाधिकारी भी शामिल हो रहे हैं. पीएम के संसदीय क्षेत्र से सटे जिलों में आगामी लोकसभा चुनाव के दौरान एसपी, कांग्रेस और बीएसपी के संभावित गठबंधन से होने वाले नुकसान से कैसे बचा जाए, इस पर भी चर्चा होने की संभावना है.

मिर्जापुर जिले के स्थानीय आरएसएस कार्यकर्ता चंद्रमोहन ने बताया कि संघ के तीन दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में प्रांत और क्षेत्रीय प्रचारकों के साथ ही आरएसएस मुख्यालय नागपुर के पदाधिकारी भी शामिल हो रहे हैं. इसमें प्रमुख रूप से सह संघ प्रचारक मुकुंद दलाल शामिल हैं. चंद्रमोहन ने बताया कि संगठन के हिस्से के तहत कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग दी जाएगी. हालांकि आरएसएस कार्यकर्ता ने यह भी दावा किया 2019 के लोकसभा चुनाव से अभ्यास वर्ग का कोई सरोकार नहीं है.

चंद्रमोहन बताते हैं कि देवरहा हंस बाबा आश्रम में आरएसएस के प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है. बता दें कि जिले में आरएसएस के प्रयोगशाला के तौर पर पहचान बना चुके इस आश्रम पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुखिया मोहन भागवत भी साल 2007 में एक सप्ताह का प्रवास कर प्रांत और क्षेत्रीय प्रचारकों को प्रशिक्षण दे चुके हैं.

इस बैठक के बारे में यूपी बीजेपी के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने बताया कि संघ के नियमित कार्यक्रम के तहत मिर्जापुर में अभ्यास वर्ग का आयोजन किया गया है, जिसमें ओटीसी, आईटीसी और गुरु दक्षिणा समेत कई सार्वजनिक कार्यक्रम होते हैं. इससे चुनाव को नहीं जोड़ा जा सकता है.

गौरतलब है कि सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में पूर्वांचल से बीजेपी की जीत पक्की करने के लिए जोर आजमाइश शुरू कर दी है. एक बार फिर पूर्वांचल की ज्यादा से ज्यादा सीटें बीजेपी को दिलाने के लिए सीएम योगी ने आसपास के तीन मंडलों के सांसदों, विधायकों और सहयोगी दलों के नेताओं के साथ गोरखपुर में मेगा बैठक की थी. बैठक के दौरान सीएम योगी ने साफ कहा था कि सभी पार्टी नेता और कार्यकर्ता अपने-अपने मनमुटाव को छोड़कर केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को घर-घर तक पहुंचाएं.


अधिक राज्य की खबरें

यूपी पेडिकान कांफ्रेंस : दूसरे दिन बच्चों की इन गंभीर बीमारीयों पर बाल रोग विशेषज्ञों ने बाल रोग डॉक्टर्स को बताएं इलाज के नए तरीके..

उत्तर प्रदेश पेडिकान के तत्वधान में आज से शुरू हुए 39 वां स्टेट कांफ्रेंस ऑफ इंडियन ... ...

बाइक रैली में बोले CM योगी, गरीबों का विकास ही बीजेपी का एक मात्र लक्ष्य..

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार को वाराणसी के संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय से कमल संदेश बाइक ... ...