फिरोजाबाद: सरकारी नौकरी की चाहत में बेटे ने मां को उतारा मौत के घाट
File Photo


फिरोजाबाद, फिरोजाबाद पुलिस ने टूंडला क्षेत्र में बीती 19 सितंबर को हुए बेबी हत्याकांड का खुलासा करते हुए मृतका के बेटे गुलशन को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक बेटे ने मां के रवैये और पिता की जगह मृतक आश्रित कोटे से नौकरी की जांच में सहयोग नहीं करने पर मां की हत्या की. बेटे का कहना है कि उसकी मां की ही पिता की हत्या में हाथ था. पुलिस ने मृतका के बेटे गुलशन को एत्मादपुर तिराहे से गिरफ्तार कर लिया है, जिसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद किया है.

अपर पुलिस अधीक्षक नगर राजेश कुमार सिंह ने बताया कि 19 सितंबर की शाम टूंडला के तेल मिल रोड निवासी बेबी कठेरिया की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. हत्याकांड के खुलासे के लिए टूंडला पुलिस टीम लगी थी. जांच में पुलिस को मृतका के बेटे पर शक गहराया था. शुक्रवार देर रात पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान मुखबिर की सूचना पर आरोपी बेटे गुलशन को एत्मादपुर तिराहे पर से बाइक के साथ गिरफ्तार कर लिया.

पूछताछ में गुलशन ने बताया कि 2009 में मेरी मां बेबी देवी एवं टूंडला के रेस्टकैंप निवासी गजेंद्र उर्फ गुड्डू ने मेरे पिता रामवीर की हत्या कर दी थी. पिता की हत्या के बाद वह एवं उसका भाई हिमांशु शिकोहाबाद स्थित बाबा के पास रहने लगे थे. आरोपी ने बताया कि उसके पिता रेलवे में चतुर्थश्रेणी कर्मचारी थे.

आरोपी ने बताया कि उसकी मां के जेल से छूटने के बाद पेंशन मिलने लगी थी, लेकिन उसकी मां उन्हें पेंशन में से पैसे नहीं देती थी और न ही पिता के स्थान पर आश्रित कोटे से नौकरी की जांच में सहयोग कर रही थी. जब उसने मां से आश्रित कोटे से नौकरी दिलाने की बात की तो उन्होंने बेटों से कोई संबंध नहीं होने की बात कह दी थी. आरोपी ने बताया कि मां के रवैये से परेशान होकर उसने उनकी हत्या कर दी.


अधिक राज्य की खबरें