राहुल गांधी को 'शिव भक्त' बताना पड़ा महंगा, 5 नेता कांग्रेस पार्टी से बर्खास्त
File Photo


इलाहाबाद, कांग्रेस पार्टी के नाताओं को इलाहाबाद में  राहुल गांधी को भगवान शिव की तस्वीर देने और उनके सामने हर-हर महादेव और शिव भक्त राहुल गांधी जिंदाबाद के नारे लगाना महंगा पड़ने वाला है. पार्टी ने  इस मामले में 5 नेताओं को बर्खास्त किये जाने का फैसला लिया है. राहुल गांधी की नाराजगी और उनके तेवर को देखने के बाद इलाहाबाद के जिलाध्यक्ष अनिल द्विवेदी ने युवक कांग्रेस के प्रदेश सचिव हसीब अहमद समेत पांच लोगों को पार्टी से सीधे तौर पर बर्खास्त किये जाने का ऐलान किया है.

कांग्रेस जिलाध्यक्ष अनिल द्विवेदी ने कहा है कि हाईकमान से अनुमति मिलने के बाद हसीब अहमद के साथ ही नारेबाजी करने वाले अन्य कार्यकर्ताओं को चिन्हित कर उनके खिलाफ सख्त ऐक्शन लिया जाएगा. बर्खास्तगी की मंजूरी के लिए जिलाध्यक्ष ने यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर को चिट्ठी भी भेज दी है.

दरअसल कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 28 सितंबर को दिल्ली रवाना होने से पहले चित्रकूट से हेलीकॉप्टर से इलाहाबाद के बम्हरौली एयरपोर्ट पहुंचे थे. जहां लाइन में लगकर कांग्रेस नेताओं ने राहुल गांधी से मुलाकात की थी. आरोप है कि युवक कांग्रेस के प्रदेश सचिव हसीब अहमद ने लाइन तोड़कर राहुल गांधी को भगवान शिव का फोटो फ्रेम भेंट किया और हर-हर महादेव और बम बम भोले के जयकारे लगाये.

जिलाध्यक्ष ने उनके इसी कृत्य को अनुशासनहीनता मानते हुए अब कार्रवाई का मन बनाया है. बता दें कि हसीब अहमद पहले भी कई बार राहुल और प्रियंका गांधी को लेकर विवादित पोस्टर जारी कर चुके हैं. हाल में ही राहुल गांधी को जनेऊधारी पंडित बताने वाला पोस्टर भी हसीब अहमद ने ही जारी किया था. जबकि 22 सितंबर को हसीब अहमद ने राहुल गांधी के कैलाश मानसरोवर यात्रा के बाद शिव भक्त के रूप में राहुल गांधी का पोस्टर जारी कर सुर्खियां बटोरी थी.


अधिक राज्य की खबरें