रूस के साथ S-400 डील पर ट्रंप नाराज, बोले- 'भारत को जल्द पता चलेगा हमारा फैसला'
File Photo


अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को कहा कि रूस से पांच अरब डॉलर के एस-400 हवाई रक्षा प्रणाली खरीद सौदे पर भारत जल्द ही दंडात्मक CAATSA प्रतिबंधों पर उनके फैसले के बारे में जान जाएगा. 'काउंटरिंग अमेरिकाज़ एडवर्सरीज़ थ्रू सैंक्शंस एक्ट' (काट्सा) के तहत रूस के साथ हथियार सौदे पर अमेरिकी प्रतिबंधों से भारत को छूट देने का अधिकार केवल ट्रंप के ही पास है.

भारत और रूस के बीच हुए सौदे के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने ओवल ऑफिस में कहा, "भारत को पता चल जाएगा. भारत को पता चलने जा रहा है. आप जल्द ही देखेंगे." ट्रम्प ने यह भी कहा कि ईरान से चार नवंबर की समयसीमा के बाद तेल आयात जारी रखने वाले देशों के बारे में अमेरिका देखेगा. भारत और चीन जैसे देशों के ईरान से तेल आयात जारी रखने के बारे में पूछे जाने पर ट्रंप ने कहा, "हम देखेंगे.

बता दें कि अमेरिका ने रूस के ऊपर काट्सा (CAATSA) कानून के अंतर्गत कुछ प्रतिबंध लगा रखे हैं. CAATSA को अमेरिका ने विरोधियों/ प्रतिद्वंदियों से मुकाबले के लिए बनाया है. ऐसे ही प्रतिबंध अमेरिका ने ईरान और ऊत्तरी कोरिया पर भी लगा रखे हैं. दरअसल अगर कोई देश इन देशों के साथ रक्षा या इंटेलिजेंस से जुड़े समझौते करता है तो अमेरिका के रूस/ईरान/उत्तर कोरिया पर लगाए गए प्रतिबंध समझौता करने वाले देश पर भी लागू हो जाएंगे. हालांकि भारत ने रूस से समझौते के लिए अमेरिका से इन प्रतिबंधों में छूट की मांग की थी.

दरअसल, पिछले हफ्ते रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिन की यात्रा पर भारत आए थे. उनकी इस यात्रा के दौरान करीब 37,000 करोड़ रुपये की S-400 एयर डिफेंस सिस्टम को लेकर भारत के साथ समझौता हुआ था.


अधिक विदेश की खबरें

चीन की चुनौती से निपटने के लिए साथ आए भारत और जापान, नौसैनिक अड्डों के साझा इस्तेमाल पर होगा समझौता!..

चीन की बढ़ती विस्तारवादी रवैये को रोकने के लिए जापान भारत के साथ सैन्य समझौता करना चाहता ... ...