राफेल विवाद पर राहुल गांधी आज HAL कर्मचारियों से करेंगे संवाद
File Photo


नई दिल्ली, राफेल विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार पर लगातार हमलावर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी शनिवार को बेंगलुरु में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के कर्मचारियों के साथ बातचीत करेंगे. सूत्रों का कहना है कि गांधी एचएएल के कर्मचारियों से दिन में साढ़े तीन बजे मुलाकात और संवाद करेंगे.

इस बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता एस जयपाल रेड्डी ने बुधवार को कहा था, 'एचएएल सबसे बड़ा शिकार इसलिए बन गया है क्योंकि एचएएल के 10 हजार कर्मचारियों की नौकरी जाने वाली है. राफेल करार मिलने से 10 हजार नई नौकरी पैदा होने वाली थी, लेकिन अब मौजूदा नौकरियां भी खत्म हो रही हैं.' उन्होंने कहा, 'अगर हमारे समय पर किया गया करार आगे बढ़ाया जाता है और 18 हवाई जहाज खरीदे जाते और बाकी हिंदुस्तान में बनाए जाते तो हमारी विनिर्माण क्षमता बढ़ती. यही कारण है कि राहुल एचएएल जा रहे हैं.'

दरअसल, कांग्रेस का आरोप है कि प्रधानमंत्री मोदी ने फ्रांस की सरकार से 36 लड़ाकू विमान खरीदने का जो सौदा किया है उसका मूल्य संप्रग सरकार के समय किए गए सौदे की तुलना में अधिक है. इसकी वजह से सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.

सिटी पुलिस ने पार्टी को स्क्वायर सर्कल में लगभग 90 मिनट की बैठक करने की इजाजत दी है. जहां भारतीय वायुसेना के लिए एचएएल द्वारा निर्मित लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (एलसीए) तेजस को लोगों के लिए प्रदर्शित किया जाएगा. कांग्रेस के राज्य इकाई के प्रवक्ता रवि गौड़ा ने कहा कि राहुल वहां पहुंचकर यह भी जानना चाहते हैं कि एचएएल कर्मचारी राफेल डील को लेकर क्या सोचते हैं.

हालांकि कंपनी ने रोजगार नियमों और सेवा शर्तों के अनुसार कर्मचारियों को इस बैठक से दूर रहने की सलाह दी है. लेकिन संस्थान से रिटायर्ड कुछ लोग राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे और राफेल सौदे समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा करेंगे. इस पर एक अधिकारी ने कहा, 'रोजगार नियम और सेवा शर्त रिटायर्ड कर्मचारियों पर लागू नहीं होता है. इसलिए कर्मचारी संघ के कुछ सदस्य उनसे मिल सकते हैं.'


अधिक देश की खबरें