बोले अखिलेश -  सपा नहीं करेगी 'शिवपाल'  की 'विधानसभा सदस्यता 'रद्द' करने की अपील
Akhilesh Yadav Press Confrence


लखनऊ, समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने आज प्रेस कांफ्रेंस करके सीबीआई, राफेल सहित कई मुद्दों पर बीजेपी को सवालों के कटघरे में खड़ा किया. अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के शासन में देश की एक-एक संस्थाओं पर प्रश्न चिन्ह लग गया है.आज सीबीआई जैसी संस्था केंद्रीय सरकारों के लिए राजनेताओं को डराने का एक हथियार बन चुकी है. राजेंताओं ने डराया जाता है. 

अपने बारे में बात करते हुए अखिलेश ने कहा कि हमें भी सीबीआई से डराया गया. कहा गया कि नदी के किनारे गये तो सीबीआई हो जाएगी. एक्सप्रेस वे पर साईकिल चलाई तो सीबीआई आ जाएगी. उन्होंने कहा कि किसी भी राजनैतिक पार्टी को संस्थाओं से खिलवाड़ नहीं करनी चाहिए. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कौन किसको बचा रहा है. हमें सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा है. 

राफेल डील पर सवाल खड़े करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी को स्थिति साफ करनी चाहिए. वे साफ दामन की बात करते थे. उन्हें सच्चाई बतानी होगी. हम जेपीसी जांच की मांग करते हैं. सुनने में तो यह भी आ रहा है कि राफेल विमान पहले दो पायलट उड़ाने वाले थे. अब एक उड़ाएगा. 

बैंको में बढ़ रहे NPA पर सवाल का उठाते हुए अखिलेश ने कहा कि केंद्रीय सरकार के इशारे बैंको ने लोगो को पैसे बांटे. अब वही लोग पैसा देने को तैयार नहीं है. सरकार भी खामोश है और बैंक भी लाचार. पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि केवल 2 हजार लोग बैंको का पैसा वापस कर दें तो खुशहाली आ जाएगी पर वो दो हजार लोग पैसा वापस करेंगे इस पर संशय है क्योकि पैसा तो उन्हें सत्ता के संरक्षण में मिला और जब सत्ता का संरक्षण है तो फिर वापसी कैसी ?   

उत्तर प्रदेश की योगी के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार पर हमलावर होते हुए अखिलेश ने कहा कि CM ने कहा था कि हनुमान चालीसा पढ़ दो तो बन्दर भाग जाएंगे लेकिन अगर हनुमान चालीसा पढ़ी तो बन्दर आपके पास आ जाएंगे. उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग हताश है इसलिए उन्हें लगता है हनुमान चालीसा पढ़ने से बन्दर भाग जायेंगे. 

हम नहीं करेंगे किसी के साथ अन्याय : 
सपा के बागी शिवपाल सिंह यादव की सदस्यता अब तक न रद्द करने के सवाल पर सपा प्रमुख ने कहा कि समाजवादी पार्टी ऐसा कोई काम नहीं करेगी जिससे अन्याय दिखाई दे। उन्होंने कहा कि वो सपा से विधायक है और विधयक रहेंगे. पार्टी की तरफ से उनकी सदस्य्ता रद्दा करने की कोई अपील नहीं की जाएगी. 

इलहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ पदाधिकारियों का किया स्वागत 

इस पूर्व अखिलेश ने इलहाबाद विश्वविद्यालय में जीते छात्रसंघ पदाघिकारियों का स्वागत किया. उन्होंने कहा कि जो चुनाव जीते है, उन सभी छात्र संघ के पदाधिकारियों को मैं बधाई देता हूँ। इलाहाबाद विवि और उसके मायने बहुत बड़े है। पहले भी आपने जिताया, उसके पहले भी सपा के समर्थन में छात्र चुनाव जीते थे। भाजपा के लोग इतने हताश थे कि जहां बच्चे रहते हैं उनके हॉस्टल और कमरे में आग लगा दी गयी। गोरखपुर में तो चुनाव होने ही नही दिया गया। भाजपा का असली चेहरा दिखाई देने लगा है। जो वादे किए गए, वो पूरी तरह खोखले साबित हुए।     


अधिक राज्य की खबरें