ट्रंप ने ठुकराया गणतंत्र दिवस पर भारत आने का न्योता, रूस-ईरान से डील बनी वजह
File Photo


रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम डील और ईरान से तेल करार के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गणतंत्र दिवस पर बतौर चीफ गेस्‍ट भारत आने के मोदी सरकार के न्‍योते को ठुकरा दिया है. अमेरिकी अधिकारियों ने भारत के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को पत्र के माध्यम से यह जानकारी दी. माना जा रहा है कि 26 जनवरी के दौरान ही ट्रंप का स्टेट आॅफ यूनियन संबोधन और कुछ राजनीतिक कार्यक्रम निर्धारित हो सकते हैं.

भारत ने अप्रैल में अमेरिकी राष्ट्रपति को गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत आने का न्योता भेजा था. अमेरिकी अधिकारियों ने निमंत्रण प्राप्त होने की जानकारी दी थी और कहा था कि 2 + 2 वार्ता के बाद जवाब दिया जाएगा. रूस से भारत की रक्षा खरीद और ईरान से तेल आयात के कारण भारत और अमेरिका के बीच तनाव का माहौल है.

हाल ही में भारत ने अमेरिकी प्रतिबंधों की धमकी के बावजूद रूस के साथ S-400 एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम डील फाइनल की थी. जिसकी रूस के राजदूत निकोलय कुदाशेव ने तारीफ भी की थी. इसके बाद भारत ने ईरान से तेल आयात रोकने और उसमें भारी कटौती करने जैसे अमेरिकी दबाव को भी खारिज कर दिया था.

इससे पहले भारत में 2+2 वार्ता के दौरान अमेरिकी रक्षा मंत्री माइक पोंपियो ने कहा था कि अमेरिका को उम्मीद है कि भारत 4 नवंबर तक प्रतिबंधों से बचने के लिए ईराक से तेल आयात पर पूरी तरह से रोक लगाएगा. हालांकि भारत ने इसपर बहुत ही साफ शब्दों में जवाब दिया था और ईराक से तेल आयात पर रोक लगाना तो दूर भारत की सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों ने दुबारा तेल का नया आर्डर दे दिया था.


अधिक विदेश की खबरें