अखिलेश का CM योगी पर सीधा वार – आपके नियंत्रण में नहीं यूपी की कानून व्यवस्था
File Photo


लखनऊ, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज लूट राज का पर्याय बन गया है। इसमें कोई भी व्यक्ति सुरक्षित नहीं है। किस निर्दोष की हत्या कब कहां हो जाये कुछ पता नही है? मुख्यमंत्री जी 24 घंटे में अपराधों के खुलासे के चाहे जितने अल्टीमेटम दें प्रशासनिक तंत्र पर उसका कोई असर नहीं होता दिखाई देता है। शासन-प्रशासन में पूरी तरह अराजकता व्याप्त है। न पीएम सुरक्षा दे पा रहे हैं, न सीएम। दीवाली से पहले यूपी में खून की होली खेली जा रही हैं।

अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के एक माल में दो लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी गई। कुंभ नगरी, उपमुख्यमंत्री, स्वास्थ्य मंत्री के क्षेत्र प्रयागराज में छात्रावास के अंदर सुमित शुक्ला की हत्या हो गई। रायबरेली के हीरा व्यापारी लोकेश दुबे से जौनपुर में बदमाशों ने 1.70 करोड की ज्वेलरी और रूपए लूट लिए और सर्राफ को गोली मार दी। बदमाश फरार हो गए। दिनदहाड़े इस घटना से आतंक व्याप्त है।    
   
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के नियंत्रण में प्रशासकीय मशीनरी नहीं रह गई है। हालत यह है कि राजधानी लखनऊ में ही घटी कई संगीन घटनाओं का खुलासा नहीं हो पा रहा है। खुद लखनऊ के कप्तान साहब के बंगले से 10 लाख की चोरी का 8 साल में भी खुलासा नहीं हो पाया है। इन स्थितियों में यह उम्मीद करना कि भाजपा सरकार कानूनव्यवस्था कायम रख सकेगी महज छलावा के अलावा कुछ नहीं है। सीतापुर में कल घटी घटना तो सरकार की प्रतिष्ठा को ही कलंकित करती है। वहां वकीलों और पुलिस में झड़प के दौरान एसपी का मोबाइल छिन गया और पीआरओ की पिटाई हो गई। सुल्तानपुर में एक व्यापारी को लुटेरों ने गोली मार दी। लखीमपुर खीरी में बैंक मित्रों से लूट हुई।
 
सपा प्रमुख ने कहा कि अपराधियों के बुलंद हौंसले और पुलिस तथा प्रशासन के सुस्त रवैये को देखते हुए तो यही कहा जा सकता है कि कोई कायदे कानून में रहने वाला सभ्य व्यक्ति यदि लुटा-पिटा नहीं है तो इसलिए कि अपराधियों की उस पर नज़र नहीं पड़ी है। राजधानी लखनऊ में ही आए दिन संगीन वारदाते हो रही है। लखनऊ-कन्नौज में बैंक के पास लूट और हत्या की घटनाएं लोग अभी भूले नहीं थे कि कल ही लखनऊ के मडियांव क्षेत्र में एक युवती से रेप की कोशिश हुई। गुडम्बा में छेड़खानी और तेलीबाग में स्कूली छात्रा को अगवा करने का प्रयास हुआ। इंदिरानगर, गाजीपुर और जानकीपुर में लूट की घटनाएं हुई। 

अखिलेश ने कहा कि ऐसा लगता है कि भाजपा के मुख्यमंत्री जी के कार्यकाल में असली रामराज स्थापित हो गया है। थानों में भाजपा नेता और संघ स्वयं सेवकों का राज है। अपराधी बेखौफ है। पुलिस शाम से ही सो जाती है, रात में वसूली के काम में लगी रहती है और सुबह टाइम से सलामी देने आ जाती है। जनता दहषत में जी रही है। पुलिस फर्जी एनकाउण्टर करके वाहवाही लूट रही है। मुख्यमंत्री जी हनुमान चालीसा पढ़कर अपराध नियंत्रण का नया नुस्खा अपना रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार में अपराध नियंत्रण के लिए यूपी डायल 100 सेवा शुरू की थी। विश्वस्तरीय इस सेवा की प्रशंसा विदेशों तक में हुई थी। महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा के लिए 1090 सेवा शुरू हुई थी। भाजपा ने इन सेवाओं को बर्बाद कर दिया। नतीजा सामने है अपराध बढ़ गए हैं। लूट, हत्या, अपहरण और बलात्कार में उत्तर प्रदेश का नाम विदेशों तक में बदनाम हो रहा है। जनता इसे कब तक बर्दाश्त करेगी? 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश में अकेला राज्य है जहां लोगों की जिंदगी का कोई ठिकाना नहीं है। सुबह घर से निकला कब वापस घर लौटेगा या नहीं भी कहना मुश्किल है। महिलाएं बच्चियां तक सुरक्षित नहीं। भाजपा अपनी साम्प्रदायिक और नफ़रत की राजनीति कर रही है। 

सपा प्रमुख ने कहा कि खेद इस बात का है कि प्रदेश की दिन पर दिन बिगड़ती हालत को देखते हुए भी राज्यपाल महोदय ने मौन धारण कर रखा है। अपने संवैधानिक दायित्व का निर्वाह करते हुए उन्हें तत्काल भाजपा की राज्य सरकार में बिगड़ती कानूनव्यवस्था पर महामहिम राष्ट्रपति जी को अपनी रिपोर्ट भेजनी चाहिए।


अधिक राज्य की खबरें