आखिर अजय माकन ने क्यों दिया दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा ?
File Photo


लोकसभा चुनाव से ठीक पहले दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने इस्तीफा दिया और पार्टी नेतृत्व ने इस्तीफे को स्वीकार भी कर लिया. दरअसल इससे पहले भी सितंबर महीने में स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर अजय माकन ने इस्तीफे की पेशकश की थी लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने तब उन्हें अगले पार्टी प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति तक पद पर बने रहने को कहा था.

इस बार फिर अजय माकन के इस्तीफे की औपचारिक वजह स्वास्थ्य कारणों को बताया जा रहा है लेकिन कांग्रेस सूत्र और अजय माकन के करीबी लोगों के मुताबिक इस्तीफे की मुख्य वजह लोकसभा चुनाव में दिल्ली में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच संभावित गठबंधन को बताया जा रहा है

गठबंधन से क्या है माकन को दिक्कत?
साल 2015 मे दिल्ली विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद अजय माकन को दिल्ली का कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था, तब दिल्ली में आम आदमी पार्टी की प्रचंड बहुमत वाली सरकार आ चुकी थी और कांग्रेस का कोई भी सदस्य 70 सदस्यों की दिल्ली विधानसभा में मौजूद नहीं था. ऐसे माहौल में आम आदमी पार्टी सरकार के विरोध की राजनीति दिल्ली की जनता के बीच अजय माकन और प्रदेश कांग्रेस संगठन ने की.

ऐसे में लोकसभा चुनाव में दोनों पार्टियों के बीच संभावित गठबंधन से जनता और कार्यकर्ताओं के बीच होनेवाली किरकिरी से बचने के लिए अजय माकन ने इस्तीफा दिया. अजय माकन नहीं चाहते कि जिस पार्टी के खिलाफ पिछले चार साल तक वह दिल्लीवासियों के बीच आवाज बुलंद करते दिखे हैं, उसी पार्टी के साथ लोकसभा चुनाव में सुर से सुर मिलाएं. सूत्रों के मुताबिक अजय माकन नहीं चाहते कि इस तरह का कोई फैसला उनके दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए हो.

अजय माकन के लिए गठबंधन मुख्य वजह तो हैं ही लेकिन शायद सिर्फ एक लोकसभा चुनाव की बात होती तो शायद वो अपने फैसले पर पुनर्विचार कर भी सकते थे. दिल्ली में विधानसभा चुनाव की घोषणा साल 2019 के अंत में ही होने की उम्मीद है यानि लोकसभा चुनाव के 6 महीने बाद. ऐसे में सवाल उठता है कि गठबंधन की स्थिति में लोकसभा चुनाव में सुर में सुर मिलाने के बाद विधानसभा चुनाव में किस आधार पर आम आदमी पार्टी की सरकार के खिलाफ जनता के बीच जाएंगे.

लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी और एआईसीसी में आने की उम्मीद!
अजय माकन लोकसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं. अजय माकन का लोकसभा क्षेत्र नई दिल्ली है. माकन साल 2004 और साल 2009 के लोकसभा चुनाव में नई दिल्ली से चुनाव जीत चुके हैं, जबकी साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर में चुनाव हार गए थे. ऐसे में एक बार फिर वह नई दिल्ली से ही चुनाव लड़ने के मूड में हैं. इसके अलावा कांग्रेस के संगठन में फेरबदल होने की उम्मीद है इसलिए उन्हें लोकसभा चुनाव से पहले या बाद में ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी मे कोई बड़ी जिम्मेदारी के साथ लाया जा सकता है.

नए अध्यक्ष की नियुक्ति जल्‍द
कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक दिल्ली में अगले कुछ ही दिनों में नए अध्यक्ष की नियुक्ति होगी. लोकसभा चुनाव नजदीक है, इसलिए पार्टी आलाकमान को पता है कि जल्द से जल्द प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति पार्टी की सेहत के लिए ठीक होगा.


अधिक देश की खबरें