नक्सलियों ने तीन लोगों की हत्या कर शवों को सडक पर फेंका
नक्सलियों ने तीन लोगों की हत्या कर शवों को सडक पर फेंका


गढ़चिरौली। महाराष्ट्र के नक्सल प्रभावित जिले गढ़चिरौली के भामरागढ़ में नक्सलियों ने तीन लोगों की हत्या कर दी। हत्या के बाद नक्सलियों ने तीनों गांववालों के शवों को रास्ते पर फेंक दिया और वहां अपना बैनर छोडा दिया। इस बैनर में लिखा है कि अगर पुलिस के मुखबिर बनोगे तो यही हालत होगी। मरने वाले ग्रामीणों के नाम मालू डोग्गे मडावी, कन्ना रैनू मडावी और लालसु कुडयेटी है. ये सभी कसनासूर गांव के रहने वाले हैं।

नक्सलियों ने घटनास्थल पर लगाए पोस्टर में मारे गए लोगों पर पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाया है। गढ़चिरौली के कोसमुंडी बाइपास पर तीनों के शव मिले है।
पिछले साल 22 अप्रैल को कसनूर-तुमिरगुंडा में हुई मुठभेड़ में 40 नक्सलियों को को एसटीएफ ने मार गिराया था। नक्सलियों ने अपने बैनर में इस घटना का जिक्र करते हुए लिखा है, ‘कसनूर-तुमिरगुंडा घटना में 40 जन अपने प्यारे कॉमरेड जनता के सपूत शहीद हुए थे। उस घटना के दोषियों कसनूर गांव के मुखबिर काम करने वाले 1 मालू दोगे मडावी, कन्ना रैनू मडावी और लालसु कुडयेटी को मौत की सजा दी है। 

‘भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (माओवादी) दक्षिण गढ़चिरौली डिविजन कमेटी’ नक्सलियों का आरोप है कि इन तीनों ने पुलिस को नक्सलियों के ठिकानों की जानकारी दी होगी। कुछ गांववालों का अपहरण नक्सलियों ने किया है ऐसे कहां जा रहा है। इस घटना के बाद पुरे इलाके में सन्नाटा और दहशत है।


अधिक राज्य की खबरें