पुलवामा आतंकी हमले में उत्तर प्रदेश के 12 जवान शहीद,शहीदों को दी श्रद्धांजलि
पुलवामा आतंकी हमले में उत्तर प्रदेश के 12 जवान शहीद,शहीदों को दी श्रद्धांजलि


उत्तर प्रदेश के 12 जवान पुलवामा में सुरक्षा बलों पर हुए आतंकी हमले में शहीद हो गए हैं। योगी आदित्य नाथ की सरकार ने शहीद के परिवारों को पच्चीस-पच्चीस लाख रुपए देने की घोषणा कर दी है। जवानों के शहीद होने के समाचार मिलने के बाद से घरों में कोहराम मच गया। जवानों के शहीद होने के समाचार के बाद से लोग गुस्साए हुए हैं। उन्होंने मोदी सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। 

इस हमले में शहीद हुए 37 जवानों में चंदौली के अवधेश, इलाहाबाद के महेश, शामली के प्रदीप और अमित कुमार, वाराणसी के रमेश यादव, आगरा के कौशल कुमार यादव, उन्नाव के अजीत कुमार, कानपुर देहात के श्याम बाबू, कन्नौज के प्रदीप सिंह और देवरिया के विजय मौर्य बताए गए हैं। पुलवामा में तैनात शामली के प्रदीप बनत गांव के रहने वाले थे। घर से लेकर पूरे गांव में कोहराम मच गया

गांववालों ने बताया कि प्रदीप के अपने चचेरे भाई की शादी में शामिल होने लिए घर आए थे। वह दो दिन पहले ही वापस गए थे। जम्मू-कश्मीर के इस आंतकी हमले में उन्नाव के अजीत कुमार आजाद भी शहीद हुए हैं। हमले की खबर मिलने के बाद उनका परिवार दहशत में आ गया। शाम को टीवी पर जब शहीदों के नाम आए तो उन्हें पता चला की हमले में वह भी शहीद हो गए हैं। अजीत की दो बेटियां ईशा और श्रेया अपनी मां मीना के साथ लिपट गईं और फूट-फूटकर रोने लगीं। 

मैनपुरी राम वकील भी इस आंतकी हमले में शहीद हो गए हैं। विनायकपुर गांव के रहने वाले जवान राम वकील की पत्नी की पहले ही मौत हो चुकी है। उनके तीन बच्चे हैं जिनकी देखरेख उनकी बूढ़ी मां करती हैं। तीनों बच्चों के सिर से मां के बाद अब पिता का साया भी उठ गया है।


अधिक राज्य की खबरें