टैग: #लखनऊ,#अखिलेश यादव,#पीएम नरेंद्र मोदी,#तंज कसा,
 जुमलों से झूठ, बूट, लूट और भ्रष्ट करतूत नहीं छिपेंगे: अखिलेश यादव
अखिलेश यादव ने ट्वीट किया


लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव लोकसभा चुनाव की तारीख घोषित होने के बाद से फ्रंट पर आने लगे हैं। आज उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसा है। अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है कि बहुत हुआ भावनाओं से खिलवाड़, अब तो सत्तापक्ष को देना होगा जवाब। उन्होंने कहा कि भयंकर जुमला पार्टी के ढाई लोगों ने व्यक्तिगत टिप्पणियां देनी शुरू कर दी है। सब जानते हैं कि राजनीति में व्यक्तिगत बातें वही करते हैं जो घबराए हुए होते हैं- जुमलों से झूठ, बूट, लूट और भ्रष्ट करतूत नहीं छिपेंगे। उन्होंने कहा कि गठबंधन विचारों का संगम है और हमारा एक ही लक्ष्य है, भाजपा को हराना।
अखिलेश यादव ने कहा भाजपा की वादाखिलाफी और फरेबी राजनीति से ऊबी जनता अब किसानों की बदहाली, नौजवानों की बेरोजगारी के साथ ही कारोबारियों की बर्बादी के लिए जिम्मेदार लोगों को करारा जवाब देगी। उन्होंने कहा कि बहुत हुआ भावनाओं से खिलवाड़। सत्ता पक्ष को हवाई बातों के आसमान से उतर कर जनता को जवाब देना होगा। कड़वी जमीनी सच्चाई का सामना करना ही होगा। भाजपा इधर-उधर की बात करना छोड़े और यह बताए कि उसके वायदों का क्या हुआ।
भयंकर जुमला पार्टी के ढाई लोगों ने व्यक्तिगत टिप्पणियाँ देनी शुरू कर दी है। सब जानते हैं कि राजनीति में व्यक्तिगत बातें वही करते हैं जो घबराए हुए होते हैं- जुमलों से झूठ, बूट, लूट और भ्रष्ट करतूत नहीं छिपेंगे।
अखिलेश यादव ने कहा कि लोकतंत्र का पहला नियम बदलाव है। लोकतंत्र का जश्न मनाने के लिए हमें उम्मीद और एकता के लिए मतदान करना है। हम संकल्प लेते है कि गरीबों और किसानों के लिए काम करेंगे। साथ ही नौजवानों, महिलाओं, व्यापारियों, अधिवक्ताओं को सशक्त बनाएंगे। समाजवादी पार्टी अपने काम के बल पर चुनाव मैदान में उतरेगी। कागजी हमला कर भाजपा समझती है कि वह युद्ध के मैदान में है।अखिलेश ने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में 15-15 वर्षों तक राज करने के बाद भी उतने काम नहीं हो सके जितना समाजवादी सरकार के पांच वर्ष के कार्यकाल में हुए हैं। जो जनहित की योजनाएं समाजवादी सरकार ने चलाई थीं, भाजपा उनको ही अपना नाम देकर चला रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि 2019 में होने वाले चुनाव केवल चुनाव ही नहीं है। इसमें निकट भविष्य में अब देश और जनहित में होने वाले महापरिवर्तन का भी संदेश है। 


अधिक राज्य की खबरें