सपा-बसपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में पूर्व मंत्री नकुल दुबे के खिलाफ नारेबाजी
सपा-बसपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में गुरुवार को जमकर हंगामा


सीतापुर। सपा-बसपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में गुरुवार को जमकर हंगामा हुआ। सीतापुर लोकसभा सीट से बसपा प्रभारी नकुल दुबे का विरोध करने के लिए एक गुट के कुछ समर्थक घुस आए। समर्थकों ने नकुल दुबे वापस जाओ के नारे लगाए। दोनों गुटों में नोकझोंक भी हुई।
चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं से मुखातिब होने आए बसपा सीतापुर प्रभारी की बैठक में जमकर बवाल हुआ। मंच पर पदाधिकारियों के मौजूदगी के बावजूद कई दर्जन कार्यकर्ताओं ने प्रभारी का विरोध शुरू कर दिया। दो खेमे में बंटे कार्यकर्ताओं में हाथापाई भी हुई। लोगों ने कुर्सियों पर चढ़कर नकुल दुबे वापस जाओ के पोस्टर लहराए। हंगामा बढ़ा तो आयोजकों को पुलिस बुलानी पड़ी। पुलिस के आने पर हंगामा कर रहे कार्यकर्ता वापस चले गए।बसपा प्रभारी नकुल दुबे व सपा के कई पूर्व विधायकों की मौजूदगी में गुटबाजी व हंगामे के दौरान समर्थक आपस में भिड़ गए। कुर्सियों से एक-दूसरे पर हमला भी किया। पुलिस ने लाठी फटकारते हुए हंगामा करने वालों को खदेड़ा।सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने श्नकुल दुबे वापस जाओश् और श्पैराशूट प्रत्याशी नहीं चलेगाश् के नारे लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। बसपा के कद्दावर नेता नकुल दुबे व सपा के कई पूर्व विधायकों की मौजूदगी में गुटबाजी खुलकर सामने आई और कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। देखते ही देखते सभा स्थल अखाड़ा बन गया। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर हंगामा करने वालों को खदेड़ दिया। इसके बाद सभा के दौरान नकुल दुबे को सीतापुर लोकसभा प्रभारी घोषित किया गया।


अधिक राज्य की खबरें